scorecardresearch
 

Jodhpur: पहले शादी तोड़ी फिर लिव इन पार्टनर ने दिया धोखा, जानें नर्स मर्डर केस की पूरी कहानी

7 सितंबर की रात जब वह घर लौटी तो प्रेमी हरीश माली (38) शराब के नशे में था. इसी दौरान दोनों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ और  मामला इतना बढ़ गया कि हरीश ने सरिता का गला घोंटकर हत्या कर दी. 8 सितंबर को हरीश ने पुलिस को बताया के सरिता ने फंदे से लटक कर आत्महत्या कर ली है.

X
नर्स की हत्या के मामले में लिव इन-पार्टनर गिरफ्तार (फोटो-आजतक)
नर्स की हत्या के मामले में लिव इन-पार्टनर गिरफ्तार (फोटो-आजतक)

राजस्थान के जोधपुर में नर्स की हत्या के मामले में पुलिस ने उसके लिव इन पार्टनर को गिरफ्तार किया है. जांच की शुरुआत में आरोपी ने पुलिस के सामने झूठी सुसाइड की कहानी सुनाई थी लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि नर्स की गला दबाकर हत्या की गई है. पुलिस उसके बॉयफ्रेंड हरीश माली को हिरासत में लिया और सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया. इसके बाद लड़की के पिता ने प्रेमी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करवाया. सामने आया कि प्रेमी लड़की के पिता का ही ड्राइवर था. लड़की के पिता टीचर है, यह मामला जोधपुर के शास्त्री नगर थाना इलाके का है. 

हत्या से पहले की कहानी- 

दरअसल यह लव और धोखे की कहानी है, 30 साल की मृतिका सरिता ने 2018 में प्रेमी वैभव अग्रवाल के साथ अरेंज मैरिज की थी. पर यह शादी ज्यादा समय टिक नहीं पाई और दोनों अलग हो गए. फिर सरिता ने जोधपुर के उम्मेद अस्पताल में नर्स के पद पर नौकरी शुरू की. इस दौरान उसकी मुलाकात पहले बॉयफ्रेंड हरीश माली से हुई जो पहले उसके पिता का ड्राइवर हुआ करता था और 4 माह पहले ही वो झालावाड़ से जोधपुर रहने आया था. दोनों लिव-इन रिलेशन में रहने लगे. इस दौरान वो गर्भवती भी हो गई थी.   

हत्या को आत्महत्या में बदलने की कोशिश 

7 सितंबर की रात जब वह घर लौटी तो प्रेमी हरीश माली (38) शराब के नशे में था. इसी दौरान दोनों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ और  मामला इतना बढ़ गया कि हरीश ने सरिता का गला घोंटकर हत्या कर दी. 8 सितंबर को हरीश ने पुलिस को बताया के सरिता ने फंदे से लटक कर आत्महत्या कर ली है. जिस पर पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक हरीश, सरिता का शव को नीचे उतार चुका था.  पुलिस से बचने के लिए उसने सुसाइड की झूठी कहानी बनाई. पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की जांच शुरू की. पुलिस ने पहले सुसाइड के एंगल से जांच की लेकिन पीएम रिपोर्ट आने के बाद पता चला कि सरिता ने सुसाइड नहीं बल्कि गला दबाकर उसकी हत्या की गई है.

ऐसे खुला हत्या का राज 

पुलिस ने हत्या की पूरी जानकारी मृतिका के पिता को दी और उनकी तहरीर पर हरिश माली के खिलाफ हत्या मामला दर्ज किया गया. शास्त्री नगर थानाधिकारी जोगेंद्र सिंह ने बताया कि सूचना मिलने पर जब कि पुलिस मौके पर पहुंची तो पलंग पर सरिता का शव पड़ा था. हरीश ने बताया कि उसने चुन्नी को काटकर शव को नीचे उतारा. 8 सितंबर को सुसाइड का मामला दर्ज कर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया. 14 सितंबर को इसकी रिपोर्ट आई तो पता चला सरिता का गला घोंटकर हत्या की गई थी. तुरंत ही हरिश को हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू की तो सारा मामला खुलकर सामने आ गया. 

आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

आरोपी हरिश ने पुलिस को बताया कि सरिता गर्भवती थी. लेकिन गर्भवात होने के बाद से वो काफी चिड़चिड़ी रहने लगी थी. जिसकी वजह से दोनों के बीच कई बार झगड़ा हुआ था.  8 सितंबर को जब ड्यूटी से वापस आई तो वो घर पर बैठा शराब पी रहा था उसने  सिगरेट भी जलाई हुई थी. जिसे देख वो काफी नाराज हुई और दोनों के बीच झगड़ा शुरू हो गया. दोनों के बीच काफी बहस हुई तो शराब के नशे में ही हरिश ने उसका गला दबाकर हत्या कर दी और उसे आत्महत्या बताने का प्रयास किया. हरिश ने खुद को बचाने का बहुत प्रयास किया लेकिन अब वो जेल की सलाखों के पीछे पहुंच गया है. 
   

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें