scorecardresearch
 

साले का बेटा दोस्त से बोला- फूफा 19.50 लाख रुपये लेकर निकला है, लूट लो

Alwar News: हकमुद्दीन अपने साले हारून के घर रुका था. साथ में ही हारून के भाई जफरू का बेटा अल्ताफ भी रहता था. अल्ताफ ने जब देखा कि घर में 19.50 लाख रुपये हैं तो उसकी नीयत खराब हो गई. फिर उसने अपने दोस्त संदीप के साथ मिलकर मामा को लूटने की योजना तैयार की. हिस्ट्रीशीटर ने अपने इस प्लान में 5 दोस्तों को मिलाया.

X
लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार. (फोटो-आजतक)
लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार. (फोटो-आजतक)

राजस्थान के अलवर में पुलिस ने लूट की वारदात में शामिल 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि भरतपुर कामां के रहने वाला स्क्रैप बिजनेसमैन हकमुद्दीन से अलवर में 19.50 लाख लूटने वाला कोई और नहीं, बल्कि उसी के साले जफरू का बेटा अल्ताफ था. आरोपी के पास से पुलिस ने लूटी हुई रकम भी बरामद कर ली है. बुधवार को कारोबारी हकमुद्दीन अपने साले हारून के साथ अलवर में खरीदे प्लॉट की रजिस्ट्री कराने के लिए बाइक पर जा रहा था. इसी दौरान दो बाइक सवार 5 बदमाशों ने उन्हें रोका और हथियार के दम पर 19 लाख 50 हजार रुपये से भरा बैग लूट लिया.  

इस मामले में ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने दो आरोपियों को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस ने अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया. 

अलवर जिले की एसपी तेजस्वनी गौतम ने बताया कि हकमुद्दीन स्क्रैप का कारोबार करता है. वह 18 साल से भरतपुर के कामां में रहता है. अलवर में उसने जमीन खरीदी थी. साला हारून जमीन की खरीद फरोख्त में साथ दे रहा था.

हकमुद्दीन अपने साले हारून के घर रुका था. साथ में ही हारून के भाई जफरू का बेटा अल्ताफ भी रहता था. अल्ताफ ने जब देखा कि घर में 19.50 लाख रुपये हैं तो उसकी नीयत खराब हो गई. फिर उसने अपने दोस्त संदीप के साथ मिलकर फूफा को लूटने की योजना तैयार की.

हिस्ट्रीशीटर ने अपने इस प्लान में 5 दोस्तों को मिलाया. अल्ताफ ने बताया कि उसके फूफा के पास मोटी रकम है और वह प्लॉट की रजिस्ट्री कराने के लिए मालाखेड़ा जाएंगे. फिर सबने मिलकर लूटने प्लान बनाया.

जैसे ही हकमुद्दीन अपने साले हारून के साथ बाइक पर घर से निकला, तुरंत अल्ताफ ने संदीप को इसकी जानकारी दी.  संदीप अपने साथियों के साथ जयसमंद के पास सड़क पर पहुंचा और फिर दोनों हसमुद्दीन व हारून को हथियार के बल पर लूटकर फरार हो गए.

लेकिन हकमुद्दीन ने बदमाशों का पीछा किया और ग्रामीणों से मदद मांगी. इस बीच वहां मौजूद ग्रामीण बदमाश का पीछा करने लगे. इस दौरान बदमाशों की एक बाइक बंद हो गई और दो बदमाश जमीन पर गिर गए. ग्रामीणों की मदद से हकमुद्दीन ने दोनों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. 

पुलिस ने शहर में नाकाबंदी कर अन्य तीनों बदमाशों का पीछा किया. रात भर पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के लिए दबिश दी. करीब 12 घंटे में पुलिस ने इस घटना का खुलासा करते हुए इस पूरी घटना के मास्टरमाइंड हकमुद्दीन के भांजे अल्ताफ समेत उसके साथियों संदीप, जसविंदर उर्फ जस्सी, जसविंदर उर्फ संटी, अजय पांचाल, बग्गा उर्फ मैक्स और दीपक उर्फ दीपू को गिरफ्तार किया है. 

पुलिस ने 19.50 लाख में से 19.41 लाख रुपये आरोपियों से बरामद कर लिए हैं. 7 आरोपी पुलिस गिरफ्त में हैं. आरोपियों से पिस्टल, दो देशी कट्टा और दो कारतूस बरामद किए हैं. गिरफ्तार आरोपियों में से चार के खिलाफ पहले से भी मामले दर्ज हैं. जसविंदर उर्फ जस्सी, जसविंदर उर्फ संटी, बग्गा उर्फ मैक्स और संदीप उर्फ मिन्ना के खिलाफ पहले मामले दर्ज हैं.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें