scorecardresearch
 

राजस्थान: थाने में युवक ने खुद को लगाई आग, कांग्रेस पार्षद पर केस दर्ज नहीं होने पर उठाया आत्मघाती कदम

Rajsthan News: कोटा में युवक ने थाने में पेट्रोल छिड़ककर खुद को आग लगा ली. उसे गंभीर हालात में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जानकारी के मुताबिक 5 सितंबर को कांग्रेस पार्षद हरिओम के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराने गया था लेकिन पुलिस ने उसकी केस दर्ज नहीं किया. इससे परेशान होकर वो 15 सितंबर की शाम थाने में घुसा और पेट्रोल डालकर खुद को आग लगा ली.

X
युवक ने पेट्रोल छिड़क खुद को आग लगा ली
युवक ने पेट्रोल छिड़क खुद को आग लगा ली

राजस्थान के कोटा में युवक ने थाना परिसर में पेट्रोल छिड़ककर खुद को आग लगा ली. बताया जा रहा है कि कई बार शिकायत करने के बाद भी पुलिस ने स्थानीय पार्षद के खिलाफ शिकायत दर्ज नहीं की. जिसकी वजह से वो काफी परेशान था, गुरुवार की शाम वो नयापुरा थाने पहुंचा और खुद को आग लगा ली. तुरंत ही पुलिसकर्मियों ने कंबल डालकर आग बुझाई और युवक को एबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस घटना के बाद से पुलिस महकमें में हड़कंप मचा हुआ है. 

जानकारी के मुताबिक, पीड़ित राधेश्याम मीणा नयापुरा इलाके का रहने वाला है, वो 5 सितंबर को कांग्रेस पार्षद हरिओम के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराने गया था. लेकिन पुलिस ने उसकी कंप्लेंट दर्ज नहीं की. इसके बाद उसने कई बार थाने के चक्कर काटे पर उसकी कहीं सुनवाई नहीं हुई. इससे परेशान होकर वो 15 सितंबर को थाने में घुसा और पेट्रोल डालकर खुद को आग लगा ली. थाने में मौजूद कांस्टेबल श्यामसुंदर और परमेश्वर ने कंबल डालकर आग बुझाई. आरोप है कि पार्षद के घर में घुसकर राधेश्याम मीणा के साथ मारपीट की थी. साथ ही उसकी पत्नी से भी गलत व्यवहार किया जिससे वो काफी परेशान था और पुलिस से पार्षद के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहा था. 

राधेश्याम 40 से 45 प्रतिशत झुलस गया है, उसकी पीठ, गर्दन, सिर व सीना झुलसा है. उधर, देर रात परिवार वालों ने एमबीएस हॉस्पिटल में हंगामा किया और आरोपी पुलिस वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. बताया जा रहा है कि राधेश्याम का वार्ड नंबर 66 के पार्षद हरिओम से WhatsApp मैसेज को लेकर विवाद हुआ था. राधेश्याम ने एक WhatsApp मैसेज डाला था. जिसमें उन्होंने लिखा था कि कांग्रेस पार्षद पर सुनता नहीं है, कोई काम नहीं करता. जिसके बाद गुस्साए पार्षद ने राधेश्याम मीणा के घर जाकर उसकी पिटाई कर दी. राधेश्याम ने इसकी शिकायत नयापुरा थाने में कई बार इसकी शिकायत करने की कोशिश की थी पर थाने में उसकी शिकायत दर्ज नहीं की. 

घटना की जानकारी मिलते ही बीजेपी के कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा अस्पातल पहुंचे और उन्होंने राधेश्याम मीणा की हालात की जानकारी ली. उन्होंने इसके लिए सरकार और पुलिस को जिम्मेदार ठहराया. वहीं एसपी केसर सिंह शेखावत ने बताया कि युवक पहले से खुद पर पेट्रोल छिड़क कर आया था. प्रारंभिक जांच में सामने आया कि राधेश्याम ने 5 सितंबर को पार्षद हरिओम सुमन के खिलाफ नयापुरा थाने में शिकायत दी थी. इसके बाद हरि सुमन ने भी राधेश्याम के खिलाफ परिवाद दिया था. दोनों शिकायत की जांच चल रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें