scorecardresearch
 

कोरोना काल में इलाज का महासंकट, सरकारी शाहखर्ची पर विपक्ष का सवाल! देखें वारदात

कोरोना काल में इलाज का महासंकट, सरकारी शाहखर्ची पर विपक्ष का सवाल! देखें वारदात

जब से कोरोना आया है और उसके बाद लॉकडाउन, तब से एक शब्द बेहद आम हो गया है, आवश्यक सेवाएं. क्या आप जानते हैं कि नया संसद भवन, प्रधानमंत्री का नया घर, वाइस प्रेसिडेंट का नया घर, मंत्रियों के नए दफ्तर, ये जो भी चीजें बन रही हैं, सभी आवश्यक आवश्यकताओं में आती हैं? इन पर सवाल खड़े हो रहे हैं. ऐसी त्रासदी में जब लोगों अस्पताल चाहिए, दवाइयां चाहिए, तब 13 हजार करोड़ का सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर काम हो रहा है. इसी के जरिए ये तमाम इमारतें बनाई जा रही हैं. क्या इस रकम का इस्तेमाल कोरोना की त्रासदी से उबरने के लिए नहीं होना चाहिए? देखें वारदात.

India is currently living through its worst nightmare in the form of a health catastrophe triggered by the second wave of coronavirus infections. As soon as the pandemic hits India, everything is halted except essential services. But, is the Central Vista project an essential service amid pandemic? This project has a 13,000 crore budget. This whopping amount of money could be spent on the Covid-19 management, which could save uncountable lives during this crisis. Watch this episode of Vardaat.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें