scorecardresearch
 

खोपड़ी प्याला और मुर्दा निवाला, यही है उनकी जिन्‍दगी

जब खोपड़ी प्याला बन जाए और मुर्दा निवाला. जब श्मशान बिस्तर हो जाए और जब चिता चादर बन जाए. फिर ज़रा वो मंज़र सोच लीजिए कि क्या होने वाला है? बस, आधी रात के बाद यही होता है. जब दुनिया सोती है तब वो उठता है. वो सदियों से अपने ऊपर रहस्य की चादर ओढ़े है. उसकी अपनी एक मायावी दुनिया है. वो दुनिया जो श्मशान से शुरू होती है श्मशान पर ही खत्म.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें