scorecardresearch
 

ऑटो ड्राइवर से लेकर कॉमेडी किंग तक राजू श्रीवास्तव का 'सफरनामा', देखें स्पेशल रिपोर्ट

ऑटो ड्राइवर से लेकर कॉमेडी किंग तक राजू श्रीवास्तव का 'सफरनामा', देखें स्पेशल रिपोर्ट

वो कहते हैं ना अगर हुनर साथ है, तो सफलता झक मारकर आती है, लोगों को हंसाने का शौक लिए, साल 1982 में कानपुर से एक लड़का मुंबई आया था, आज हम सभी उस लड़के को कॉमेडी किंग राजू श्रीवास्तव के नाम से जानते हैं. राजू ने कॉमेडी में गजोधर, संकठा, बैजनाथ, और पुत्तन जैसे नामों का अपनी कॉमेडी में खूब प्रयोग किया. गजोधर तो इतना पॉपुलर हुआ, खुद राजू श्रीवास्तव का नाम पड़ गया. आज गजोधर हमारे बीच नहीं है, और सबकी आंखे नम हैं. मनोरंजन जगत से लेकर, राजनीतिक गलियारों तक राजू श्रीवास्तव के जाने से हर कोई गमज़दा है. देखें स्पेशल रिपोर्ट.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें