scorecardresearch
 

बेटियों की सुरक्षा की मांग बदल गई इंकलाब में

एक गुजारिश थी आवाम की, जो अब गुस्से में बदल चुकी है. एक मांग थी, बेटियों को सरेराह बेआबरू करने वाले दरिंदों को सख्त सजा देने की. उनका हौसला तोड़ने के लिए कड़ा कानून बनाने की, लेकिन वो मांग अब इंसाफ का इंकलाब बना चुका है. दूसरा इंकलाब.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें