scorecardresearch
 

मैं भाग्य हूं: सफलता और संघर्ष एक ही सिक्के दो पहलू

मैं भाग्य हूं. मैं आपको रोज बताता हूं कि आप इस बात भरोसा मत कीजिए कि आपका भाग्य ईश्वर ने लिखा है बल्कि आप इस बात पर भरोसा कीजिए कि आप अपना मुकद्दर खुद रचते हैं. हम अक्सर सुनते हैं कि हमें अपने दिल की सुननी चाहिए जिस काम में मन लगे वो करना चाहिए.

Main Bhagya hoon, I tell you everyday that you do not believe that your destiny is written by God, you trust that you make your own decision. We often hear that we should listen to our heart, in whatever work they feel they should do.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें