scorecardresearch
 

UP Chunav 2022: यूपी में क्या कहता है पिछड़े-अगड़ों का हिसाब-किताब?

UP Chunav 2022: यूपी में क्या कहता है पिछड़े-अगड़ों का हिसाब-किताब?

उत्तर-प्रदेश में चुनाव से पहले ही विधायकों से लेकर मंत्रियों का पलायन जारी है. एक के बाद एक नेता बीजेपी का दामन छोड़ रह रहे हैं. बहरहाल पिछले चुनाव के ऐतिहासिक जीत में पिछड़ी जातियों का साथ बीजेपी के लिए निर्णायक रहा था. लेकिन इस बार की स्थिती को देखकर लगता है कि बीजेपी की चुनौतियां बढ़ रही हैं. आजतक से बातचीत में SBSP अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि पिछले चुनाव में दलितों ने ये सोच कर वोट दिया था कि केशव मौर्य मुख्यमंत्री बनेंगे. लेकिन जब केशव मौर्य मुख्यमंत्री नहीं बने तभी दलितों की नाराजगी शुरु हुई और आज इस स्तर तक पहुंच गई. देखें वीडियो.

The debate over the Dalit and other backward classes vote is a most discussed topic. In the wake of UP Elections 2022, AajTak has brought to you the 'Political Stock Exchange'. In this show, we will talk about the caste equations in previous polls.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×