scorecardresearch
 

8 जनवरी को 9वें राउंड की बैठक के पहले किसानों ने सरकार को दिखाई अपनी ताकत

8 जनवरी को 9वें राउंड की बैठक के पहले किसानों ने सरकार को दिखाई अपनी ताकत

8 राउंड की बातचीत के बाद भी किसानों और सरकार का गतिरोध जब रास्ते पर नहीं आया तो किसान रास्ते पर आ गया. जो ट्रैक्टर खेतों में चलते हैं वो हाईवे पर चलने लगे. किसानों ने ट्रैक्टर को अपना प्रतीकात्मक हथियार बना लिया है,ये संदेश देने की कोशिश है कि सरकार को किसानों की बातें माननी ही पड़ेंगी. सरकार ने लाख कोशिशें कर लीं, मगर किसान टस से मस नहीं हुआ, 8 जनवरी को 9वें राउंड की बैठक के पहले किसानों ने सरकार के सामने ट्रैक्टर के साथ शक्ति प्रदर्शन कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें