scorecardresearch
 

सियासत की लड़ाई पंजाब से दिल्ली तक आई, देखें कांग्रेस की 'कलह कथा'!

सियासत की लड़ाई पंजाब से दिल्ली तक आई, देखें कांग्रेस की 'कलह कथा'!

Punjab Congress Crisis: देश में बीते सात सालों में कुल 1,133 उम्मीदवारों और 500 सांसद विधायकों ने पार्टियां बदली हैं, लेकिन सबसे ज्यादा दल बदलू नेता कांग्रेस के रहे. 2014 से 2021 के दौरान कुल 222 नेताओं ने दूसरी पार्टियों का दामन थाम लिया, इनमें 177 नेता सांसद और विधायक थे. फलहाल सम्पूर्ण कांग्रेस में हलचल मची हुई है और पार्टी सिर्फ कलह सुलझाती नजर आ रही है, हालात कांग्रेस के सामने सिर्फ पंजाब तक की चुनौतियां नहीं पेश कर रहे, अब इसकी लड़ाई दिल्ली तक पहुंच चुकी है. देखें कांग्रेस की 'कलह कथा'.

The Congress is facing the heat in Punjab, and the spillover effect is being felt in Delhi. Senior leaders of the party are publicly voicing differences with the leadership, prompting protests by others in the same party. In the last seven years in the country, a total of 1,133 candidates and 500 MPs and MLAs have changed parties, but the most defection leaders were from Congress. Between 2014 and 2021, a total of 222 leaders joined other parties, out of which 177 were MPs and MLAs. At present, there is a stir in the entire Congress and the party only seems to be resolving the discord, the situation is not presenting challenges in front of the Congress only in Punjab, now the ripples of the fight are being seen in Delhi. Watch this episode.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×