scorecardresearch
 

'धर्म संसद' के नाम पर 'खोदा पहाड़ निकली चुहिया'

इलाहाबाद की कुंभ नगरी में वीएचपी के धर्म संसद से जिन लोगों ने बड़े फैसले की उम्मीद बांधी थी उन्हें निराशा हाथ लगी होगी. ऐसा लग रहा था कि प्रधानमंत्री की दावेदारी पर नरेंद्र मोदी की उम्मीदवारी पर हां या ना तो हो ही जाएगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ. संतों की इस संसद से बीजेपी के लिए कोई आदेश नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें