scorecardresearch
 

41 प्रतिशत तक घटी टीकाकरण की रफ्तार, बंगाल समेत इन राज्यों में वैक्सीन की कमी!

41 प्रतिशत तक घटी टीकाकरण की रफ्तार, बंगाल समेत इन राज्यों में वैक्सीन की कमी!

कोरोना की दो लहरों के बीच अब तक देश के छह राज्यों में विधानसभा चुनाव हो चुका है. जबकि आठ राज्यों में पंचायत-निकाय चुनाव कराया जा चुका है. यानी कोरोन की रफ्तार के आगे चुनाव नहीं थमता, प्रचार नहीं थमता, बस थमती है तो देश में कोरोना से बचाने वाली वैक्सीन की रफ्तार. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सीधे प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर कहा है कि 14 करोड़ वैक्सीन की जरूरत है, मिली सिर्फ दो करोड़ 12 लाख है, तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से बात करके कहा है कि हमें एक करोड़ वैक्सीन का अलग कोटा दीजिए, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री बोल रहे हैं कि हमें हर महीने तीन करोड़ टीके लोगों को लगाने के लिए केंद्र से चाहिए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री कहते हैं कि वैक्सीन की कमी नहीं है, राज्य कहते हैं टीका कम है. ऐसे में क्या वाकई रफ्तार घटी है या राजनीति बढ़ी है? देखें 10तक.

Bengal, like some of the other states, is facing a vaccine shortage with allotments from the Centre not coming as per schedule, alleged Chief Minister Mamata Banerjee. Against a request for 14 crore doses, the state was allotted 2.12 crore doses so far. In a letter to the Prime Minister, Narendra Modi, the West Bengal Chief Minister urged for 11.5 crore more doses to cover all eligible people. Like Bengal, Maharashtra and Tamil Nadu have also sought more vaccine supply. In this episode of 10tak, we will talk about vaccine shortage and politics in the country.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें