scorecardresearch
 

आजतक रेडियो

सुनता है सारा जहाँ

vaccine helmet

पीके किधर चले, धर्म में अदालती उंगली और घुमक्क्ड़ ईवीएम: तीन ताल, Ep 26

तीन ताल के 26वें एपिसोड में कमलेश किशोर सिंह 'ताऊ', पाणिनि आनंद 'बाबा' और कुलदीप मिश्र 'सरदार' से सुनिए, इन विषयों पर बातचीत- 

- तारीख़ और समय तय होने के बाद भी ताऊ क्यों वैक्सीन नहीं लगवा सके?

- ये हफ्ता या जीवन कैसा बीता, इस पर एक कविता और कुछ बातें.

- प्रशांत किशोर का ऑडियो वायरल होने का मतलब

- राजनीति में इशारों की महिमा: क्या हर बात एक इशारा होती है? अज़ीज़ मियां को याद करते हुए.

- बाबा क्यों फैज़ को पढ़ते हुए IPL से घिन करते हैं. 'लौट जाती है उधर को भी नज़र क्या कीजे.'

- लौटकर जो आ रहा है कोरोना

- इस बार क्या ले जाएगा कोरोना

- कोरोना की दूसरी लहर, वैक्सीन की कमी और मकड़जाल वाले प्रशासनिक फ़ैसले.

- वैक्सीन क्यों हेलमेट जैसी चीज़ है?

- बिज़ार स्टोरी में सिर मुंडवाने से कैसे एक आदमी बेरोज़गार हो गया.

- ईवीएम क्यों भटकती रहती है उम्मीदवारों के यहां.

- 18 की उम्र के बाद मरज़ी का धर्म चुनने की आज़ादी क्यों एक ढकोसला है?

- न्योता वाले श्रोता में इलाहाबाद  से आशीर्वाद सिंह की जवाबी चिट्ठी.

- डॉक्टरों के पर्चे लिखने का तरीका और हैंडराइटिंग इतनी अजीब क्यों है?

अपनी पसंद के पॉडकास्ट सुनने का आसान तरीका, हमें सब्सक्राइब करें यूट्यूब और टेलीग्राम पर. फेसबुक पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें.

ये भी सुनिए