scorecardresearch
 

आजतक रेडियो

सुनता है सारा जहाँ

क्यूट इंडिया मूवमेंट, अनन्य-जघन्य दोस्त और अलबेले नाम: तीन ताल Ep 42

क्यूट इंडिया मूवमेंट, अनन्य-जघन्य दोस्त और अलबेले नाम: तीन ताल Ep 42

तीन ताल के 42वें एपिसोड में कमलेश 'ताऊ', पाणिनि ‘बाबा’ और कुलदीप ‘सरदार' से सुनिए :

- क्यों जीवन का असल मतलब 'बयालीस यानी फोर्टी टू' ही है? 

- अगस्त 2021 की आमद, ताऊ ने लॉन्च किया 'क्यूट इंडिया मूवमेंट'. सरदार ने किया अनुमोदन. बाबा बने महामंत्री.

- ममता बनर्जी दिल्ली में क्या तलाश रही हैं? बाबा ने क्यों कहा कि ममता ग़लत राजनीतिक फ़ैसले नहीं लेतीं.

- एक जज की हत्या के बहाने 'मर्डर बाय एक्सीडेंट' की बात.  

- बिज़ार ख़बर में दिल्ली के एक टैटू मैन के बहाने गोदना से जुड़ी यादें. महिलाओं और दलितों का गोदना और धर्म बचाए रखने की चाह. बाबा के टैटू की कहानी.

- फ्रेंडशिप डे के बहाने अनन्य और जघन्य दोस्तों के किस्से. ताऊ ने क्यों कहा कि दोस्ती बचपन की होती है, बाद के सिर्फ रिश्ते होते हैं.

- बाबा के तीन दोस्त. सरदार की अपने दोस्त 'झोला' को चुनौती. क्या लड़का-लड़की दोस्त नहीं हो सकते?

- अजीबोगरीब और अलबेले नामों पर बात. बाबा ने क्यों कहा मुझे अपना नाम अजीब लगता है. नाम और काम का भेद और समानता. 

- न्योता वाले श्रोता में पटना से आई तीन ताल और आजतक रेडियो के फाउंडिंग लिसनर की चिट्ठी.

प्रड्यूसर: शुभम तिवारी
साउंड मिक्सिंग: सचिन द्विवेदी

ये भी सुनिए