scorecardresearch
 

आजतक रेडियो

सुनता है सारा जहाँ

‘चार लोग देखेंगे तो क्या सोचेंगे?’ का जवाब ये है : क़िस्सागोई Ep 45

‘चार लोग देखेंगे तो क्या सोचेंगे?’ का जवाब ये है : क़िस्सागोई Ep 45

स्पेशल सीरीज़ ‘क़िस्सागोई’ में आपको लखनऊ समेत दुनिया जहान के किस्से सुनाएंगे. ये कहानियां आप तक पहुंचाएंगे ‘क़िस्सा-क़िस्सा लखनउवा’ किताब के लेखक और मशहूर दास्तानगो हिमांशु बाजपेयी. आज की सीरीज़ में किस्सा सुनिए सिद्दीकी साहब का. उर्दू के महान आलोचक और आलोचना में उनका कोई सानी ना हुआ. लेकिन सिद्दीकी साहब का कहना था कि आलोचना सलाह के तौर पर दी जानी चाहिए. ना कि अपने ज्ञान के दिखावे के लिए. और इसी के साथ किस्सा उस बच्चे का जिसके रिश्तेदार उसे लगातार ताना देते रहते थे. लेकिन फिर बच्चे ने क्या किया? ख़ुद सुनिए