scorecardresearch
 

आजतक रेडियो

सुनता है सारा जहाँ

Sunderlal bahuguna

सुंदरलाल बहुगुणा, एक पर्यावरणविद जो पेड़ कटने से पहले खुद कटने को तैयार था: नामी गिरामी, Ep 98

चिपको आंदोलन के नेता और प्रख्यात पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा नहीं रहे. वो अपने पीछे सामाजिक संघर्षों की कई गाथाएं छोड़ गए हैं. गांधीवादी विचारों वाले बहुगुणा का जीवन समाज और पर्यावरण से जुड़े मुद्दों पर काम करते हुए बीता और देशभर के सामाजिक कार्यकर्ता उनसे प्रेरणा पाते रहे. नामी गिरामी के इस एपिसोड में उन्हें याद कर रहे हैं अमन गुप्ता.

अपनी पसंद के पॉडकास्ट सुनने का आसान तरीक़ा, हमें सब्सक्राइब करें यूट्यूब और टेलीग्राम पर. फेसबुक पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें.

ये भी सुनिए