scorecardresearch
 

आजतक रेडियो

सुनता है सारा जहाँ

prashant kishor

अगर प्रशांत किशोर ने पार्टी बनाई तो क्या वो दिग्गजों के सामने टिक पाएगी? : आज का दिन, 3 मई

ममता बनर्जी सुवेंदु अधिकारी का नंदीग्राम में किला नहीं भेद पाईं, तो आख़िर कहां चूक हो गई?  चुनावी रणनीति छोड़ने पीछे प्रशांत किशोर की क्या मंशा क्या है?  अगर वे सक्रिय राजनीति में खुद अपनी पार्टी लेकर आते हैं तो पुराने दलों के बीच खड़ा हो पाना संभव हो सकेगा? और वैक्सीन मैनुफक्चरिंग बढ़ाने के लिए compulsory licensing की राह में क्या रोड़े हैं? सुनिए 'आज का दिन' में अमन गुप्ता के साथ.  

अपनी पसंद के पॉडकास्ट सुनने का आसान तरीक़ा, हमें सब्सक्राइब करें यूट्यूब और टेलीग्राम पर. फेसबुक पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें.

ये भी सुनिए