scorecardresearch
 

न ब्रश और न दस्ताने, नंगे हाथों से ही सांसद महोदय ने स्कूल की टॉयलेट सीट साफ कर डाली

Rewa News: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस यानी 17 सितंबर से लेकर गांधी जयंती (2 अक्टूबर ) तक बीजेपी तक सेवा पखवाड़ा चला रही है. इसी के तहत एक स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में सांसद जनार्दन मिश्रा गंदे टॉयलेट को हाथ से ही साफ कर दिया. इसके लिए उन्होंने केमिकल और ब्रश का इंतजार तक नहीं किया.

X
सांसद जनार्दन मिश्रा ने हाथ से साफ किया टॉयलेट. सांसद जनार्दन मिश्रा ने हाथ से साफ किया टॉयलेट.

Madhya Pradesh News: अक्सर विवादों में रहने वाले रीवा संसदीय सीट से बीजेपी सांसद जनार्दन मिश्रा का एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में वह नंगे हाथों से टॉयलेट साफ करते दिखाई दे रहे हैं. सांसद महोदय रीवा जिले के बालिका विद्यालय खटखरी गए हुए थे. टॉयलेट साफ करने के बाद दौरान सांसद ने हाथों में दस्ताने तक नहीं पहने और न ही ब्रश का इस्तेमाल किया.  

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस यानी 17 सितंबर से लेकर गांधी जयंती (2 अक्टूबर ) तक बीजेपी तक सेवा पखवाड़ा चला रही है. इसी कड़ी में बालिका स्कूल में आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रम के सांसद जनार्दन मिश्रा बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे.

स्कूल में भ्रमण के बाद सांसद ने देखा कि बालिका टॉयलेट गंदा है, तो उन्होंने खुद ही साफ़ करने का फैसला कर लिया. इसके लिए सांसद ने केमिकल या फिर ब्रश का इंतजार भी नहीं किया. एक बाल्टी में पानी मंगवाया और टॉयलेट साफ करने लगे. सांसद ने हाथ से टॉयलेट को क्लीन कर साफ-सफाई रखने का संदेश दिया.  

बता दें कि गुना के एक स्कूल में गंदे टॉयलेट को साफ करती बच्चियों के वीडियो वायरल होने से जमकर किरकिरी हुई. ऐसे में सांसद का यह वीडियो आईना दिखाता है.

जनार्दन मिश्रा ने कहा, सभी को स्वच्छता रखनी चाहिए. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से लेकर नरेंद्र मोदी स्वच्छता का संदेश दे रहे हैं. यह कोई नई बात नहीं है. मैंने पहले भी टॉयलेट साफ किए हैं. 

इससे पहले सांसद जनार्दन मिश्रा ने हाथ रिक्शा चलाकर घर-घर से कचरा कलेक्शन किया और खूब सुर्खियां बटोरी थीं. सांसद विवादित बोल बोलकर सुर्खियों में रहे हैं. कचरा फैलाने वालों को फांसी देने, IAS को जिंदा जमीन में दफनाने, मोदी की दाढ़ी से प्रधानमंत्री आवास गिरने जैसे बयान सांसद जनार्दन मिश्रा दे चुके हैं. 

समाजसेवी ने बताया ढोंग 

वहीं, सांसद के इस काम को समाजसेवी शिवानंद ने ढोंग करार कर दिया है. उन्होंने कहा कि वायरल वीडियो में सांसद के नंगे हाथ हैं. मुंह में मास्क भी नहीं है और बिना किसी सुरक्षा के टॉयलेट की सफाई करते हुए नजर आ रहे हैं. वह शायद जनता को संदेश दे रहे हैं कि लोग टॉयलेट और गंदे स्थानों पर बिना किसी हाइजीन सुरक्षा के सफाई करें. सांसद अपने अन्य महत्वपूर्ण कर्तव्यों का निर्वहन नहीं कर रहे हैं. जिले में शिक्षा, स्वास्थ्य, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, किसानों की समस्याओं और गोवंशों पर क्रूरता जैसे मामलों को संसद में नहीं उठाया. बार-बार एक ही तरह का टॉयलेट सफाई करने का वीडियो बनाकर जारी करना इन ज्वलंत मुद्दों पर पर्दा डालने और ध्यान भटकाने जैसा है. यह अपने आप को गांधीवादी दिखाने का ढोंग मात्र है.             

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें