scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश में भी लंपी वायरस की एंट्री! कई गायों में दिखे लक्षण, अलर्ट जारी

कोरोना महामारी और मंकीपॉक्स की दहशत के बीच इन दिनों पशुओं में लंपी वायरस का कहर दिख रहा है. राजस्थान के बाद अब मध्य प्रदेश के रतलाम में गायों में लंपी वायरस के लक्षण दिखे हैं.

X
लंपी वायरस की दहशत लंपी वायरस की दहशत

राजस्थान के बाद मध्य प्रदेश के रतलाम में भी गायों में लंपी वायरस (लंपी स्किन डिजीज) के लक्षण मिलने से हड़कंप मच गया है. रतलाम जिले के एक गांव में कई गायों में लंपी वायरस के लक्षण मिले हैं. ऐसे में पशु चिकित्सा विभाग एक्शन में है और लंपी को लेकर प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, रतलाम जिले के सेमलिया गांव में एक दर्जन से अधिक गायों के शरीर पर छोटे-छोटे चकते घाव में बदल गए हैं. आसपास के गांवों में भी कई गायों में ऐसे लक्षण दिखे हैं. हालांकि अभी पशु चिकित्सा विभाग ने गायों में लंपी वायरस की पुष्टि नहीं की है, लेकिन लंपी जैसे लक्षण दिखने के बाद पशु चिकित्सा विभाग सतर्क हो गया है. विभाग की टीम ने 5 गायों के सैंपल भोपाल के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनिमल डिजीज में जांच के लिए भेजा है. गायों को आइसोलेट कर इलाज किया जा रहा है.

पशु रोग चिकित्सकों का कहना है कि लंपी वायरस पशुओं में होने वाली एक वायरल बीमारी है. इसमें खून चूसने वाले कीड़ों की मदद से उसका वायरस एक पशु से दूसरे पशु तक पहुंचता है. इस बीमारी के लक्षण में पशु के शरीर पर छोटे-छोटे चकते बन जाते हैं. ये बाद में घावों में बदल जाते हैं और पशु के शरीर पर जख्म नजर आने लगते हैं. पशु खाना कम कर देता है और उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता घटने लगती है.

इस मामले में मध्य प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, प्रदेश के कई जिलों से पशुओं में लंपी बीमारी होने की खबर लगातार आ रहे हैं. मूक पशु अपनी पीड़ा खुद तो व्यक्त कर नहीं सकते और पशुपालकों की बात सुनने के लिए सरकार के पास समय नहीं है. मैं प्रदेश सरकार से आग्रह करता हूं कि तत्काल इस विषय में आवश्यक कार्रवाई करें और प्रदेश को इस बीमारी से बचाएं.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें