scorecardresearch
 

'आदमी मैं बुरा नहीं, पर हालात...', लोन नहीं चुका सका तो पूरे परिवार को खत्म कर दे दी जान, सामने आया सुसाइड नोट

मोबाइल ऐप से लोन लेकर उसे नहीं भर पाने के बाद इंदौर में एक शख्स ने अपने पूरे परिवार के साथ जान दे दी. शख्स का नाम अमित यादव है. उसने पहले पत्नी और दो बच्चों की हत्या की. इसके बाद खुद फांसी पर लटक गया. इस मामले में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि हम मामले की तहकीकात कर रहे हैं.

X
पति-पत्नी और दो बच्चों की मौत
पति-पत्नी और दो बच्चों की मौत

ऑनलाइन ऐप के जरिए कर्ज के नासूर ने एक और परिवार को खत्म कर दिया है. मध्य प्रदेश के इंदौर के रहने वाले अमित यादव ने पहले अपनी पत्नी और दो बच्चों की हत्या की, फिर खुद फांसी लगाकर जान दे दी. जान देने से पहले अमित ने एक सुसाइड नोट भी लिखा, जिसमें लिखा है- 'आदमी बुरा नहीं हूं, लेकिन हालात ने ऐसा कर दिया...'

अमित यादव ने अपने सुसाइड नोट में लिखा- 'जीने की इच्छी मेरी भी है, लेकिन मेरे हालात अब ऐसे नहीं रहे, आदमी मैं बुरा नहीं हूं, पर हालात नहीं... इसमें किसी की कोई गलती नहीं है, मेरी ही है, मैंने कई ऑनलाइन ऐप से लोन से रखा है, पर मैं लोन भर नहीं पा रहा हूं, इज्जत के डर से यह कदम उठा रहा हूं, पुलिस मेरे परिवार को परेशान न करें, मैं ही दोषी हूं.'

सुसाइड नोट में अमित ने आगे लिखा- एक विशेष बात मेरे परिवार को बता दें कि लोन पैन कार्ड पर होता है, अगर पैन कार्ड धारक मर जाता है तो लोन का कोई अस्तित्व नहीं रहता, मेरे लोन को किसी को भरने की जरूरत नहीं है, मैं मेरे आई और मां-बाप से बहुत प्यार करता हूं, आपस में घर वाले न लड़े यही मेरी आखिरी इच्छा है, यह चिट्ठी मेरे घर वालों को जरूर पढ़ाया जाए, मम्मी मैं जा रहा हूं... अमित यादव, एक फकीर इंसान.'

सुसाइड नोट

क्या है पूरा मामला

मध्य प्रदेश के सागर के रहने वाले अमित यादव इन दिनों इंदौर में अपने परिवार के साथ रहते थे. अमित ने जब मंगलवार सुबह अपने परिवार वालों का फोन नहीं उठाया तो भागीरथपुरा में ही रहने वाले उनके ससुराल पक्ष को सूचित किया गया. इसके बाद उनकी सास और परिवार वाले किराए पर लिए रूम पर पहुंचे तो कोई भी दरवाजा नहीं खोल रहा था. 

ऐसे में बाणगंगा पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस मौके पर पहुंची और दरवाजा तोड़ा गया तो अमित यादव का शव फांसी के फंदे पर लटका हुआ मिला. पास में ही दोनों बच्चे और पत्नी बिस्तर पर मूर्छित अवस्था अवस्था में पड़े थे. जब उनकी नब्ज टटोली गई तो वह मृत पाए गए. अमित ने पहले पत्नी और बच्चे की हत्या की फिर खुद फांसी पर झूल गया.

पति-पत्नी और दो बच्चों की मौत की घटना के बाद एक और पुलिस जांच कर रही है तो वही गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बहुत दुखद घटना हुई है, ऑनलाइन ऐप से लोन लेने की प्रक्रिया की जांच कराई जाएगी, अगर कुछ आपत्तिजनक चीज पाया जाता है तो इस मामले में कार्रवाई कराई जाएगी, मैं खुद साइबर टीम को इस काम पर लगाऊंगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें