scorecardresearch
 

छुट्टियां मनाने के लिए किराये पर नहीं मिला प्लेन तो इंजीनियर ने घर में ही बना डाला, कार के खर्च में हवाई यात्रा

भारतीय इंजीनियर ने परिवार के साथ छुट्टियां मनाने के लिए 18 महीने में खुद के हवाई जहाज का निर्माण कर लिया. अब वह कार के खर्चे में इस हवाई जहाज से परिवार सहित यात्रा करते हैंं और इस विमान में ईंधन के रूप में पेट्रोल का ही इस्तेमाल किया जाता है.

X
इंजीनियर ने घूमने के लिए बनाया अपना एयरक्राफ्ट इंजीनियर ने घूमने के लिए बनाया अपना एयरक्राफ्ट

इंसान अगर चाहे तो उसके लिए कुछ भी असंभव नहीं है. कुछ ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है केरल के रहने वाले एक इंजीनियर ने जिसने अपने घर में ही हवाई जहाज बना लिया. भारत के रहने वाले  इंजीनियर अशोक ने इंग्लैंड में अपने घर में यह प्लेन बनाया है.

अशोक ने अपना 4 सीटर प्लेन बनाया है जो 1 घंटे में 25 लीटर पेट्रोल पर 250 किमी तक उड़ान भरता है. यही नहीं इंजीनियर अशोक इस विमान को खुद उड़ाकर यूरोप सहित चार अलग-अलग राज्यों में घूम चुके हैं. उनके विमान से घूमने का खर्च कार खर्च के बराबर ही आया.  

कोरोना लॉकडाउन के दौरान जब पूरी दुनिया घरों में कैद थी, उसी वक्त अशोक लंदन में अपने घर में रहते हुए चार सीटर प्लेन का निर्माण किया. हाल ही में जब अशोक और उनकी पत्नी  इंदौर आए तो उन्होंने अपने इस कारनामे के पीछे की वजह बताई.

अशोक ने बताया कि हम पति-पत्नी टू सीटर प्लेन किराए पर लेकर घूमने लगे, जब परिवार बढ़ा तो 4 सीटर प्लेन की जरूरत महसूस हुई, जो किराए पर नहीं मिला.       

plane

तब विचार आया कि क्यों न खुद का प्लेन बनाएं. उन्होंने जोहांसबर्ग स्थित एक एयरक्राफ्ट फैक्ट्री से प्लेन असेंबल किट लिया और लॉकडाउन के दौरान घर के वर्कशॉप में ही 18 महीने में प्लेन तैयार कर लिया. अशोक ने बताया कि मैने पूरे 2 साल की कमाई इसे बनाने में लगा दी.

18 महीनों की कड़ी  मेहनत और 1 करोड़ 75 लाख की लागत से बने इस प्लेन से वे परिवार सहित पूरा यूरोप भी घूम आए हैं.     

 plane

पेशे से मैकेनिकल इंजीनियर 39 साल के अशोक एलीसेरील केरल के निवासी हैं और इंदौर में उनका ससुराल है. उनकी शादी इंदौर की अभिलाषा दुबे से हुई है. इन दिनों पत्नी के साथ इंदौर आए हुए हैं. उनकी पत्नी अभिलाषा ने बताया कि प्लेन को छोटी बेटी का नाम दिया है.

वहीं प्लेन को लेकर अशोक एलीसेरील ने बताया कि मैंने यह विमान साउथ अफ्रीका की कंपनी के साथ मिलकर बनाया है जो कार के खर्चे में चलता है. उन्होंने कहा, मैंने 4 राज्य घूमे हैं. घर में 4 लोग हैं इसलिए 4 सीटर प्लेन बनाया जिसे बनाने में उन्हें 18 महीने की मेहनत लगी है.

यहां देखिए वीडियो             

इतना ही नहीं ये प्लेन नई टेक्नोलॉजी से बना है. इंजीनियर अशोक ने बताया कि कोरोना के समय जब वो फ्री थे तो उन्हें प्लेन बनाने का आइडिया आया और प्लेन बन गया.

उन्होंने कहा मैंने इस प्लेन को अपनी बेटी का नाम दिया है जिसमें परिवार सहित सवार होकर उन्होंने छुट्टियां बिताने की एक योजना बनाई थी. अशोक पेशे से मैकेनिकल इंजीनियर हैं और फोर्ड मोटर कंपनी में नौकरी करते हैं.  

अशोक के बनाए विमान ने फरवरी 2022 में पहली उड़ान लंदन में भरी थी. दोनों बेटियां तारा और दीया सहित वो ऑस्ट्रिया, जर्मनी घूम चुके हैं. उन्होंने कहा, मैंने प्राइवेट पायलट लाइसेंस के लिए अप्लाई किया और 1 साल में 9 परीक्षाएं और 45 घंटे की उड़ान के बाद मुझे लाइसेंस मिल गया. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें