scorecardresearch
 

भोपाल की एक बस्ती में क्लोरीन गैस का रिसाव, लोगों को सांस लेने में दिक्कत, 3 अस्पताल में भर्ती

नगर निगम की टीम ने पाया कि इलाके में बने जल शोधन संयंत्र में लगे क्लोरीन गैस के एक सिलेंडर का नोज़ल खराब होने के कारण उसमें से गैस लीक होने लगी. सिलेंडर का वजन करीब 900 किलो था, जिसे तुरंत नगर निगम की टीम ने पानी में डालकर गैस को हवा में मिलने से रोका गया.

X
गैस रिसाव के बाद घरों से बाहर निकले लोग
गैस रिसाव के बाद घरों से बाहर निकले लोग

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की मदर इंडिया कॉलोनी में बुधवार रात क्लोरीन गैस फैलने से हड़कंप मंच गया. गैस रिसाव के चलते लोगों की आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ होने लगी. इसके बाद पूरी कॉलोनी के लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए. सूचना मिलने पर भोपाल कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर मौके पर पहुंचे. 

नगर निगम की टीम ने पाया कि इलाके में बने जल शोधन संयंत्र में लगे क्लोरीन गैस के एक सिलेंडर का नोज़ल खराब होने के कारण उसमें से गैस लीक होने लगी. सिलेंडर का वजन करीब 900 किलो था, जिसे तुरंत नगर निगम की टीम ने पानी में डालकर गैस को हवा में मिलने से रोका गया.

इसके बाद 5 किलो कास्टिक सोडा डालकर गैस लीकेज को बंद किया गया. इस दौरान इलाके के 03 लोगों को सांस लेने में तकलीफ के चलते हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जिनकी हालत अब खतरे से बाहर है. घटना की सूचना मिलने पर गैस राहत मंत्री विश्वास सारंग और भोपाल की मेयर मालती राय हमीदिया अस्पताल पहुंचे और घायलों का हाल चाल जाना. घटना के बाद अब एहतियातन प्रभावित इलाके में गुरुवार 27 अक्टूबर को पानी की सप्लाई नहीं की जाएगी.

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का ट्वीट

इस मामले को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, भोपाल की मदर इंडिया कॉलोनी में क्लोरीन गैस टैंक के लिकेज होने से लोगों को आंखों में जलन एवं सांस लेने में तकलीफ़ व कुछ लोगों के अस्पताल में भर्ती होने की ख़बर सामने आयी है. इस मामले में सभी पीड़ित लोगों के इलाज की पूर्ण व्यवस्था हो. इस पूरे मामले की जांच हो. सुरक्षा के सभी आवश्यक कदम उठाये जाये.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें