scorecardresearch
 

MP: 4 बजे घर से निकला, 7 बजे लाश मिली... B.Tech स्टूडेंट निशांक की मौत का क्या है सच ?

भोपाल पुलिस कह रही है कि ये खुदकुशी का मामला लगता है, मगर मृतक छात्र के मोबाइल से उसके पिता को एक मैसेज भेजा गया, जिसमें लिखा गया- सर तन से जुदा वाला मैसेज. इस मामले में राज्य सरकार ने एसआईटी जांच के निर्देश दे दिए हैं.

X
निशांक राठौर और भेजा गया मैसेज (फाइल फोटो) निशांक राठौर और भेजा गया मैसेज (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भोपाल में निशांक की संदिग्ध मौत
  • पिता को आया 'सर तन से जुदा' का मैसेज

मध्य प्रदेश के रायसेन में भोपाल के छात्र निशांक राठौर का शव मिला, वो भी दो टुकड़ों में. पुलिस कह रही है कि ये खुदकुशी का मामला लगता है, मगर मृतक छात्र के मोबाइल से उसके पिता को एक मैसेज भेजा गया, जिसमें लिखा गया- सर तन से जुदा वाला मैसेज. इस मामले में राज्य सरकार ने एसआईटी जांच के निर्देश दे दिए हैं.

निशांक राठौर की मौत के मामले में जो एसआईटी गठित की गई है, उसमें 1 एडिशनल एसपी, 1 एसडीओपी, 3 टीआई, 4 सब इंस्पेक्टर शामिल हैं. एसआईटी यह पता करेगी कि जो पोस्ट और मैसेज उसके फोन से हुए, वह क्यों हुए? निशांक के लैपटॉप को पुलिस ने सीज किया है और उसे फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है.

प्रथम दृष्टया यह जांच में सामने नहीं आया है कि निशंक का फोन किसी और ने इस्तेमाल किया हो. 4 बजकर 8 मिनट पर निशांक भोपाल से निकला. 5 बजकर 3 मिनट पर बांसकुंवर पेट्रोल पंप पहुंचा. 5 बजकर 26 मिनट पर उसका स्टेट्स देखा गया. 5 बजकर 48 मिनट पर इंस्टाग्राम पर पोस्ट हुई. 6 बजकर 2 मिनट पर ट्रेन से कटकर मौत हुई.

7 बजे निशांक राठौर का शव रेलवे ट्रैक पर मिला और उसकी एक्टिवा 100 मीटर दूर मिली. इस मामले में मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि निशांक क्रिप्टो करेंसी में निवेश करता था, उसके परिजनों को यह मालूम था... साथ ही वह अकेलेपन का शिकार भी था, उसकी माताजी का पहले ही निधन हो चुका है, इस एंगल पर भी एसआईटी जांच करेगी.

क्या है पूरा मामला

रविवार की शाम मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में इंजीनियरिंग के छात्र निशांक राठौर का शव रेलवे ट्रैक पर दो हिस्सों में कटा मिला. पुलिस को पहली नजर में ही ये मामला खुदकुशी का लगा, क्योंकि शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान नहीं थे, लेकिन हड़कंप तब मचा जब छात्र के पिता ने बताया कि उन्हें एक मैसेज आया है.
 
छात्र के पिता उमाशंकर राठौर ने अपने बेटे के मोबाइल से आए मैसेज को बारे में जब पुलिस को बताया तो वो भी चौंक गई. मैसेज में लिखा गया था- राठौर साहाब आपका बेटा बहुत बहादुर था... गुस्ताख-ए-नबी की एक ही सजा, सर तन से जुदा , सर तन से जुदा. उसके वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम पर भी उसके फोटे के साथ इस मैसेज को डीपी में लगाया गया है.

इस मैसेज को देखने के बाद एक ही झटके में कई सवालों ने अपना सिर उठा लिया. आखिर ये मैसेज किसने भेजा और क्यों? क्या ऐसे मैसेज निशांक को पहले भी मिले? क्या निशांक ने हाल ही में कोई ऐसी पोस्ट साझा की जिस पर कोई ऐतराज हो? क्या निशांक का किसी के साथ कोई अदावत थी? क्या 'सर तन से जुदा' का मैसेज देकर बरगलाने की कोशिश हुई है?

इसी बीच पुलिस को एक सीसीटीवी भी मिला है. उस सीसीटीवी में ऐसा तो कुछ नज़र नहीं आ रहा अलबत्ता एक स्कूटर और एक बाइक जरूर दिखाई दे रही है, जिसके बारे में कहा जा रहा है कि जो स्कूटर नज़र आ रहा है उस पर निशांक ही सवार है. पुलिस की शुरुआती तफ्तीश का इशारा है कि वो स्कूटर निशांक ने किराए पर लिया था और वो नर्मदानगर की तरफ जाता दिखाई पड़ रहा है.

रविवार शाम हुई इस घटना के बाद पुलिस ने ट्रेन की टाइमिंग और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर ये नतीजा निकाला है कि हो न हो ये मामला आत्महत्या का है, जबकि निशांक के पिता का दावा है कि निशांक कुछ भी कर सकता है लेकिन आत्महत्या नहीं कर सकता. खैर पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें