scorecardresearch
 

साहित्य अकादेमी अनुवाद पुरस्कार 2021 की घोषणा, विजेताओं में अर्जुमंद आरा और गीता शेनॉय भी शामिल

साहित्य अकादेमी ने अनुवाद पुरस्कार 2021 की घोषणा कर दी है. स्थानीय रवींद्र भवन में साहित्य अकादेमी के अध्यक्ष डॉ चंद्रशेखर कंबार की अध्यक्षता में कार्यकारी मंडल की बैठक में इसके लिए 22 पुस्तकों को अनुमोदित किया गया.

X
डॉ चंद्रशेखर कंबार डॉ चंद्रशेखर कंबार

नई दिल्लीः साहित्य अकादेमी ने अनुवाद पुरस्कार 2021 की घोषणा कर दी है. स्थानीय रवींद्र भवन में साहित्य अकादेमी के अध्यक्ष डॉ चंद्रशेखर कंबार की अध्यक्षता में कार्यकारी मंडल की बैठक में इसके लिए 22 पुस्तकों को अनुमोदित किया गया. अनुवाद पुरस्कार के लिए पुस्तकों का चयन समितियों की अनुशंसा के आधार पर किया गया. संबद्ध भाषाओं में पुरस्कार 1 जनवरी 2015 से 31 दिसंबर 2019 के मध्य प्रकाशित पुस्तकों पर दिए गए हैं.  मैथिली और राजस्थानी भाषाओं में पुरस्कारों की घोषणा बाद में की जाएगी.
इसी वर्ष आयोजित एक विशेष समारोह में प्रत्येक अनुवाद पुरस्कार विजेता को पुरस्कार स्वरूप रु. 50,000/- की राशि तथा उत्कीर्ण ताम्रफलक प्रदान किए जाएंगे.
    
साहित्य अकादेमी अनुवाद पुरस्कार 2021 चुनी गई अनुवाद पुस्तकें हैं- असमिया की 'दांति परॉर मानुह', ममंग दई के अंग्रेज़ी उपन्यास 'द लीजेंड्स ऑफ़ पेन्सम' का अनुवाद पॅरी हिलोइदारी ने किया है. बाङ्ला में    'युगांत' को, जो हेश एलकुंचवार के इसी नाम से प्रकाशित मराठी नाटक का नीता सेन समर्थ द्वारा किया अनुवाद है. बर भाषा में चुनी गई 'हिरिम्बा' पुस्तक असमिया में इसी नाम से लिखे जयन्ती गगै के उपन्यास का अनुवाद है. 

डोगरी में 'पाकिस्तान दी हक़ीक़त कन्नै रू-ब-रू' हिंदी में सतीश वर्मा द्वारा लिखित    यात्रावृत्त 'पाकिस्तान की हक़ीक़त से रू-ब-रू' का नीलम सरीन द्वारा किया अनुवाद है.अंग्रेज़ी में 'स्मृतिचित्रे: द मेमोरीज़ ऑफ़ अ स्पिरिटेड वाइफ़' लक्ष्मीबाई तिलक के मराठी संस्मरण स्मृतिचित्रे का शांता गोखले द्वारा किया अनुवाद है. गुजराती में 'बा: महात्मानां अर्धांगिनी' अंग्रेज़ी में अरुण गाँधी एवं सुनंदा गाँधी द्वारा लिखित जीवनी 'द फॉर्गोटेन वुमन' का सोनल पारिख द्वारा किया अनुवाद है. 

पूरी सूची यहां देखेंः

साहित्य अकादेमी अनुवाद पुरस्कार 2021

   

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें