scorecardresearch
 

Agatha Christie: क्वीन ऑफ क्राइम, जिसके किस्सों का कोई तोड़ नहीं, बिक्री में शेक्सपीयर को पछाड़ा

क्वीन ऑफ क्राइम के नाम से मशहूर अगाथा क्रिस्टी का आज जन्मदिन है. अगाथा क्रिस्टी ने 60 से ज्यादा क्राइम नोवल लिखे, उनके कई कैरेक्टर्स पर फिल्में, वेब सीरीज़ और प्ले लिखे और बनाए गए हैं.

अगाथा क्रिस्टी (बाएं), उनका मशहूर कैरेक्टर हरक्यूल पॉयरा का टीवी कैरेक्टर (दाएं) (फाइल फोटो) अगाथा क्रिस्टी (बाएं), उनका मशहूर कैरेक्टर हरक्यूल पॉयरा का टीवी कैरेक्टर (दाएं) (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अगाथा क्रिस्टी का जन्मदिन आज
  • क्वीन ऑफ क्राइम के नाम से मशहूर
  • फिक्शन राइटिंग में रिकॉर्डतोड़ बिक्री

किसी लेखक की इच्छा यही होती है कि उसकी लिखी किताबें बिक जाएं, उसके नाम पर लोग किताबों को ढूंढें. लेकिन उसकी भी कोई एक लिमिट होगी. लेकिन तब क्या हो जब किसी लेखक ने इतनी किताबें लिखीं और उसके नाम पर इतनी किताबें बिक गईं, कि इन सबको समेटने के लिए भी एक किताब लिखनी पड़ सकती है. ब्रिटेन की एक ऐसी ही राइटर हुईं, जिन्होंने अपने जीवन में क्राइम नोवल लिखे. नाम था अगाथा क्रिस्टी, 15 सितंबर को उनकी जयंती है. ऐसे में उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें जानिए. 

अगाथा क्रिस्टी को ‘क्वीन ऑफ क्राइम’ कहा जाता है, उन्होंने अपनी ज़िंदगी में करीब 66 क्राइम नोवल लिखे. जिनमें एक से एक किस्से शामिल हुए, कैरेक्टर्स को गढ़ा गया जो इतिहास बन गए. ये किताबें इतनी बिकी कि रिकॉर्ड बन गया. अगाथा क्रिस्टी की किताबें आज भी बेस्टसेलर्स में ट्रेंड कर रही होती हैं और एक अनुमान के मुताबिक उनकी लिखी हुई किताबों की अबतक 4 बिलियन कॉपी बिक चुकी हैं. जो विलियम शेक्सपीयर की लिखी किताबों की बिक्री के बराबर या उनसे ज्यादा ही हैं.  

18 साल की उम्र में लिखी थी पहली स्टोरी

साल 1890 में इंग्लैंड के टॉरकी में अगाथा का जन्म हुआ. एक अपर-मिडिल क्लास परिवार में जन्मीं अगाथा ने कम उम्र में ही अपनी मां को खो दिया था. तीनों बच्चों में सबसे छोटी होने की वजह से अगाथा को भरपूर प्यार मिलता रहा. बाद में पिता की भी मौत हो गई, सौतेली मां ने उन्हें बड़ा किया. शुरुआत में पढ़ाई अच्छे तरह से नहीं हो पाई थी, लेकिन बाद में पेरिस में पढ़ने का मौका मिला. 1907-1908 के आसपास अगाथा क्रिस्टी वापस इंग्लैंड आईं वो वहां पर ही रहने लगीं. 

18 साल की उम्र में अगाथा ने अपनी पहली शॉर्ट स्टोरी लिखी. करीब 6 हज़ार शब्द की स्टोरी को उन्होंने अपने पास समेटे रखा. पेरिस में रहते वक्त उन्हें क्राइम फिक्शन पढ़ने का शौक लगा था, ऐसे में उस पढ़ाई से वो लिखने तक पहुंच गई. इसी सबके बीच अगाथा ने अपना पहला नोवल Snow Upon the Desert लिखना शुरू किया, इस नोवल को लिखने में लंबा वक्त लगा. लेकिन इससे भी ज्यादा वक्त इसे छपवाने में लगा, क्योंकि करीब 6 पब्लिशर ने इसे छापने से मना कर दिया था. लेकिन बाद में बमुश्किल किसी की सिफारिश के दम पर एक पब्लिशर ने इसे छापा, वो भी एक और नोवल लिखने की शर्त पर किया. 

Agatha Christie


इसी बीच 24 साल की उम्र में अगाथा की शादी आर्ची नाम के शख्स से हुई, आर्ची का सरनेम क्रिस्टी था, ऐसे में अगाथा क्रिस्टी हुईं जो बाद में उन्होंने बतौर राइटर इस्तेमाल किया. दोनों के एक बेटी भी हुई, लेकिन आर्ची का किसी के साथ अफेयर था तो दोनों का साथ लंबा नहीं चल सका. एक बार अगाथा क्रिस्टी के गायब होने की भी खबर आई, तब इंग्लैंड की पूरी सरकार डर गई थी. अलग-अलग अफवाहें उड़ने लगी थी, लेकिन कुछ वक्त के बाद एक होटल में अगाथा मिली वो वहां पर नाम बदलकर रह रही थीं. 

और फिर हुआ हरक्युल पोयरॉ का जन्म...

अगाथा क्रिस्टी ने अपनी राइटिंग के दौरान कई कैरेक्टर्स को जन्म दिया, इनमें से कई का ज़िक्र आजतक होता है और वो इतिहास में अपना नाम दर्ज करा चुके हैं. इन्हीं में से एक और सबसे पहले कैरेक्टर का नाम है हरक्युल पोयरॉ (Hercule Poirot). एक रिटायर्ड बेल्जियन पुलिस ऑफिसर जो बाद में डिटेक्टिव बन जाता है, उसकी बड़ी मूछें हैं, वह गंजा है और उसका सिर एक अंडे की तरह है. ये कैरेक्टर दुनिया में सबसे अधिक चर्चा में आया. 

अगाथा क्रिस्टी की बायोग्राफी के मुताबिक, जब पहला विश्व युद्ध चल रहा था और जर्मनी ने बेल्जियम पर चढ़ाई कर दी थी. तब बेल्जियम से हजारों लोग इंग्लैंड में आए थे, उन्हीं बेल्जियन रिफ्यूज़ी से प्रेरित होकर अगाथा ने हरक्युल पोयरॉ के कैरेक्टर को जन्म दिया. जो अपनी कहानियों में इंग्लैंड में रहकर ही केस सॉल्व करता है. इस कैरेक्टर की सक्सेस के बाद अगाथा को नए-नए कॉन्ट्रैक्ट मिले, जिनपर उन्होंने काम करना शुरू किया. 

Agatha Christie

रिकॉर्ड्स की भी क्वीन रहीं अगाथा

साथ ही Miss Marple समेत अन्य कुछ कैरेक्टर्स को पैदा किया, जिनपर बाद में अलग से कई सीरीज़ चलीं. अगाथा क्रिस्टी ने कुल 66 क्राइम नोवल लिखे, 6 नॉन-क्राइम नोवल लिखे और 150 शॉर्ट स्टोरीज़ लिखीं. हर किताब, शॉर्ट स्टोरी के ना जाने तब से अबतक कितने ही संस्मरण लिखे जा चुके हैं और करोड़ों लोग इन्हें पढ़ चुके हैं. 12 जनवरी 1976 को अगाथा क्रिस्टी का निधन हुआ था. 

अगाथा क्रिस्टी की कई कहानियों पर फिल्म, सीरीज़, नाटक बन चुके हैं. करीब 100 से अधिक भाषाओं में उनकी किताबों का ट्रांसलेशन हो चुका है, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है. The Mousetrap नाम का प्ले अगाथा क्रिस्टी द्वारा लिखा गया है, जो 1952 से लेकर 2020 तक लंदन में दर्शाया गया जो एक रिकॉर्ड है. बॉलीवुड में भी विशाल भारद्वाज जल्द ही अगाथा क्रिस्टी से किताब से प्रभावित एक फिल्म बना रहे हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें