scorecardresearch
 

कली पुरी के भाषण से हुआ साहित्य आज तक का आगाज

कली पुरी के भाषण से हुआ साहित्य आज तक का आगाज

साहित्य आज तक की शुरुआत करते हुए इंडिया टुडे ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन कली पुरी ने कहा कि इस कार्यक्रम के जरिए आजतक की कोशिश हिंदी साहित्य, संगीत को बढ़ावा देने की है. कली पुरी ने कहा कि इस कार्यक्रम के जरिए हम नई जेनेरेशन तक साहित्य को पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं जिससे स्मार्टफोन की दुनिया में कबीर के दोहे गुम न हो जाएं. कली पुरी ने कहा कि पिछले साल साहित्य आजतक नोटबंदी के ऐलान के तुरंत बाद हुआ था और लोगों के पास पैसे नहीं थे. इस बार दिल्ली एनसीआर प्रदूषण की चपेट में है. पर दोस्ती और प्यार का रिश्ता कुछ ऐसा ही होता है. कली ने लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि बीते 17 सालों की तरह इस साल एक बार फिर आप सभी हमारे साथ हैं. इसी प्यार के चलते आज तक लगातार देश का नंबर वन चैनल बना हुआ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें