scorecardresearch
 

साहित्य आजतक: पिस्तौल नहीं, जेब में डिक्शनरी रखते थे भगत सिंह

साहित्य आजतक: पिस्तौल नहीं, जेब में डिक्शनरी रखते थे भगत सिंह

साहित्य आजतक के तीसरे दिन 'रंग दे बसंती चोला' सत्र में शिरकत करने पहुंचे देशभक्तों के लेखक सुधीर विद्यार्थी और खुले विचारों के लिए पहचाने जाने वाले लेखक प्रोफेसर चमनलाल. चमनलाल ने कहा कि जो लोग भगत सिंह की जेब में पिस्तौल दिखाते हैं वो मूर्ख और घटिया लोग हैं, उनकी जेब में दो चीजें रहती थीं. एक जेब में भगत सिंह पॉकेट डिक्शनरी रखते थे और दूसरी जेब में दुनिया की कोई महान किताब रखते थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें