scorecardresearch
 

साहित्य आजतक: लेखन से रोजी-रोटी नहीं चलती

साहित्य आजतक: लेखन से रोजी-रोटी नहीं चलती

साहित्य आजतक के तीसरे दिन 'हिंदी में क्या बिकता है' सत्र में वाणी प्रकाशन की प्रमुख अदिति माहेश्वरी और युवा लेखक भगवंत अनमोल ने शिरकत की. इस दौरान भगवंत अनमोल ने कहा लेखन से रोजी-रोटी नहीं चल सकती है, लेखन से उतना पैसा मिलता है जितना दिवाली पर बोनस मिलता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें