scorecardresearch
 

साहित्य आज तक: पीयूष मिश्रा की ये बेहतरीन पेशकश

'साहित्य आजतक' के दूसरे संस्करण के तीसरे दिन का शुभारम्भ हो चुका है. इसके पहले सत्र 'बल्लीमारान' में पीयूष मिश्रा ने अपनी कविताओं का पाठ किया. उन्होंने 'ओ रात के मुसाफिर' भी गाया. देखें- उनकी ये बेहतरीन पेशकश 'साहित्य आजतक' के मंच से.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें