scorecardresearch
 

साहित्य आज तक: प्रेम और कविता का क्या है नाता?

साहित्य आज तक: प्रेम और कविता का क्या है नाता?

साहित्य आज तक के सत्र 'प्रेम और कविता' में गीत चतुर्वेदी, बद्री नारायण, अनामिका और निधि नित्या जैसे कवि-कवयित्रियों ने प्रेम पर कविताएं लिखने के अनुभव साझा किए. कवि बद्री नारायण ने बताया कि भाषा के जरिए प्रेम की अभिव्यक्ति सबसे कठिन है. वहीं कवयित्री निधि नित्या ने बताया कि कोई भी कविता लिखते वक्त वे शब्दों का चुनाव नहीं करती हैं और भाव नहीं चुनती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें