scorecardresearch
 

साहित्य आज तक में सुनिए कवियों की 'नई आवाज'

साहित्य आज तक में सुनिए कवियों की 'नई आवाज'

'साहित्य आज तक' के तीसरे सत्र 'नई आवाज' में कवि सुधांशु फिरदौस, कवि गौरव सोलंकी और कवि बाबुशा कोहली ने शिरकत की. इस सत्र का संचालन अंजना ओम कश्यप ने किया. अंजना के सवाल कि नई आवाज के लिए कितनी चुनौतियां हैं पर बाबुशा कोहली ने कहा कि मौजूदा समय में सोशल मीडिया ने नई आवाज को सपोर्ट दिया है. अब लोगों तक पहुंचना उनके लिए पहले से ज्यादा आसान है. वहीं गौरव सोलंकी ने कहा कि यह बदलाव का युग है. साहित्य के इस मंच से इन युवा कवियों ने अपनी-अपनी कविताएं पेश की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें