scorecardresearch
 

जब कुमार विश्वास ने सुनाई गवर्नर के यहां बंधक सरकार की कहानी

जब कुमार विश्वास ने सुनाई गवर्नर के यहां बंधक सरकार की कहानी

'साहित्य आज तक' के मंच पर पहुंचे कवि और राजनेता कुमार विश्वास ने अपने अंदाज में कविता सुनाते हुए कहा कि सियासत पैरों की जूती है और कविता सिर की पगड़ी है, लेकिन जब कोई पगड़ी पर हाथ डाले, तो जूती हाथ में उठाने का समय आ जाता है.

poet and political leader kumar vishwas poetry on politics aam aadmi party at sahitya aaj tak

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें