scorecardresearch
 

साहित्य आजतक 2019: क्या पीएम मोदी के सामने नतमस्तक हुए तीनों खान? इम्तियाज अली का दो टूक जवाब

क्या मौजूदा सरकार के सामने नतमस्तक हो गए बॉलीवुड के तीनों खान? क्या फिल्म इंडस्ट्री में राष्ट्रवाद मोदीवाद में परिवर्तित हो गया है? जानें इम्तियाज अली ने क्या कहा?

साहित्य आजतक: इम्तियाज अली साहित्य आजतक: इम्तियाज अली

पिछले दिनों राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं वर्षगांठ पर पीएम मोदी ने एक खास कार्यक्रम आयोजित किया था. जहां कला और मनोरंजन जगत के दिग्गज सितारों ने शिरकत की थी. शाहरुख खान, आमिर खान, सोनम कपूर, कंगना रनौत, जैकलीन फर्नांडीज, इम्तियाज अली, एकता कपूर, अनुराग बसु जैसे स्टार्स इस कार्यक्रम का हिस्सा बने थे.

कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ शाहरुख खान और आमिर खान की तस्वीरें खूब वायरल हुई थीं. साहित्य आज तक के मंच पर मॉडरेटर अंजना ओम कश्यप ने इम्तियाज से सवाल किया- ''देखा गया है कि बॉलीवुड में तीनों खान का दबदबा है. हाल ही में पीएम मोदी के साथ तीनों की बातचीत को बताया गया कि ये भी मौजूदा सरकार के सामने नतमस्तक हो गए? क्या फिल्म इंडस्ट्री में राष्ट्रवाद मोदीवाद में परिवर्तित हो गया है?''

साहित्य आजतक Day 3:इम्तियाज अली बोले, मुझे देश में कोई खतरा नहीं

जवाब में इम्तियाज अली ने कहा- ''एक पीएम अगर आपको न्योता देते हैं कि आइए अपने विचार व्यक्त करिए, मैं गांधी के ऊपर फिल्मों को बनाना चाहता हूं. तो कोई किस कारण से नहीं जाएगा? ऐसी कोई बात नहीं थी कि कोई ना जाए. इसलिए सारे लोग गए. मैं मानता हूं कि सारी दुनिया में लोग उत्तेजित हैं. मुझे लगता है कि लहर की तरह ये भी गुजर जाएगा. हमें अपनी जगह नहीं छोड़नी है. ''

साहित्य आजतक की पूरी कवरेज देखने के लिए यहां क्लिक करें...


क्या मुस्लिम होकर इंडस्ट्री में काम कर सकते हैं?
इम्तियाज अली ने कहा- मैं ये नहीं भूल सकता कि मैं जमशेदपुर का हूं, हिंदू कॉलेज में पढ़ा हूं. बॉम्बे में रहता हूं. मुझे क्यों कुछ भूलने की जरूरत है. मुझे किसी चीज पर कोई अफसोस नहीं है. मैं सब कुछ याद कर इस फिल्म इंडस्ट्री में काम करता हूं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें