scorecardresearch
 

बढ़ते खर्चों से हैं परेशान? काम आएंगे बचत के ये 5 टिप्स

ज्यादातर लोगों की ये समस्या होती है कि वो बचत नहीं कर पाते हैं. उन्हें आवश्यक और फिजूल खर्चों के बीच अंतर करना भी नहीं आता है. कुछ खास टिप्स अपनाकर ये समस्या दूर की जा सकती है.

खर्चों पर करें कंट्रोल खर्चों पर करें कंट्रोल

बढ़ती महंगाई और जिम्मेदारियों के बीच बचत कर पाना बहुत मुश्किल काम है. ज्यादातर लोग अपने खर्चों पर कंट्रोल करना चाहते हैं पर चाह कर भी नहीं कर पाते हैं. कुछ खास टिप्स अपनाकर आप अपने बेवजह के खर्चों पर लगाम लगाने के साथ ही बचत भी कर सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे.

खर्चे से पहले बचत करें

बहुत से लोग अपनी सैलरी से हर महीने की खर्च के पैसे निकाल कर बाकी के पैसे बचत के लिए रखते हैं. लेकिन अगर आप वाकई बचत करना चाहते हैं तो अपने तरीकों में बदलाव करें. आमदनी में से जितनी बचत संभव है वो करें और बाकी बचे हुए पैसों से सारे खर्च चलाएं.

बजट बनाकर खर्च करें

अपनी सैलरी के हिसाब से बजट बनाएं. दवाइयों, अस्पतालों जैसे इमर्जेंसी खर्च के लिए अलग पैसे निकाल कर रख लें. एक डायरी में अपने सारे खर्चे लिखने की आदत डालें. इससे आपको ये भी पता चल जाएगा कि आपने कहां बेवजह का खर्च किया है.

जरूरत और इच्छाओं में फर्क सीखें

ज्यादातर लोगों की आदत होती है कि घूमते-फिरते उन्हें जो भी पसंद आ जाता है, वो खरीद लेते हैं. अपनी आवश्यकता और इच्छा में फर्क करना सीखें. कहीं ऐसा ना हो कि शौक को पूरा करने के चक्कर में पूरे महीने का बजट गड़बड़ हो जाए.

ये भी पढ़ें: पैसों के मामले में ध्यान रखें ये 5 बातें, मुश्किल हालात में मिलेगी मदद

क्रेडिट कार्ड का उपयोग कम करें

आजकल ज्यादातर लोग प्लास्टिक मनी से ही खरीददारी करते हैं. इन कार्ड्स के चक्कर में अक्सर लोग कई ऐसी भी चीजें खरीद लेते हैं, जिनकी उन्हें जरूरत नहीं होती. अगर ये चीजें कैश में खरीदनी होती तो वो ये चीजें शायद कभी नहीं लेते.

छोटी रकम से बचत की शुरुआत

कोई जरूरी नहीं है कि आप अपने सैलरी का ज्यादा हिस्सा बचत में ही डाल दें. आप इसकी शुरूआत छोटी रकम से भी कर सकते हैं. आपकी छोटी-छोटी बचत ही आगे चलकर बड़ी बनेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें