scorecardresearch
 

कोरोना वायरस: प्रेग्नेंसी में चेकअप के लिए अस्पताल जाना कितना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी में महिलाओं को चेकअप के लिए जल्दी-जल्दी अस्पतालों के चक्कर लगाने पड़ते हैं. कोरोना वायरस से बचने के लिए प्रेग्नेंट महिलाओं को कई तरह की सावधानियां रखने की जरूरत है.

खुद को सुरक्षित रखें गर्भवती महिलाएं खुद को सुरक्षित रखें गर्भवती महिलाएं

कोरोना वायरस के मामले और अस्पतालों में इसके मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. हर कोई इस समय बेवजह के अस्पताल के चक्कर से बचना चाहता है. लेकिन प्रेग्नेंट महिलाओं को हर कुछ दिनों पर डॉक्टर के पास चेकअप या अल्ट्रासाउंड कराने के लिए जाना ही पड़ता है. कोरोना के डर से ज्यादातर प्रेग्नेंट महिलाएं अस्पताल जाने से घबरा रहीं हैं.

क्या इस समय चेकअप के लिए डॉक्टर के पास जाना सुरक्षित है? कहीं अस्पताल जाने से कोरोना का संक्रमण तो नहीं हो जाएगा? ऐसे कई सवाल हैं जो इस समय प्रेग्नेंट महिलाओं के मन में आने स्वाभाविक हैं. आइए जानतें हैं कि डॉक्टर के पास कब जाना ज्यादा जरूरी है और कब अस्पताल के चक्कर से बचा जा सकता है.

रूटीन चेकअप के लिए ना जाएं

अगर आपको अंदर से कोई समस्या नहीं महसूस हो रही है तो इस समय सिर्फ रूटीन चेकअप के लिए डॉक्टर के पास जाने से बचें. आप अपने डॉक्टर से वीडियो कॉल के जरिए सलाह-मशविरा कर सकती है. इस समय प्रेग्नेंट महिलाओं के रूटीन चेकअप के लिए कई डॉक्टर वर्चुअल कंसल्टेशन की सुविधा उपलब्ध करा रहे हैं. वर्चुअल कंसल्टेशन से आप किसी भी तरह के संक्रमण से सुरक्षित रहती हैं और आपका समय भी बचता है.

ये भी पढ़ें: स्टडी में दावा, गर्भवती महिलाओं में कोरोना वायरस का गंभीर खतरा नहीं

डॉक्टर के पास कब जाएं

नौ महीने की प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चे के विकास के बारे में पता करने के लिए कई तरह के स्कैन और जांच करवानी जरूरी होती है. किसी भी तरह की दिक्कत की जानकारी अल्ट्रासाउंड से पता चल जाती है. इसलिए अपने डॉक्टर से बात करें कि कौन सा अल्ट्रासाउंड कराना जरूरी है और इसके लिए किस समय डॉक्टर के पास जाना सही रहेगा. आमतौर पर प्रेग्नेंसी में तीन से पांच अल्ट्रासाउंड कराने की जरूरत पड़ती है. यह प्रेग्नेंट महिला की सेहत पर भी निर्भर करता है.

हॉस्पिटल जाते समय रखें इन बातों का ध्यान

डॉक्टर से बात करने के बाद आप बिना किसी चिंता के हॉस्पिटल जा सकती हैं. हॉस्पिटल्स के तरफ से सोशल डिस्टेंसिंग और सुरक्षा के सारे इंतजाम किए जा रहे हैं लेकिन फिर भी आपको कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत है. बाहर किसी भी सतह को छूने से बचें. अपने साथ हमेशा सैनिटाइजर रखें. हॉस्पिटल में लोगों से 6 फीट की दूरी बनाए रखें और घर आने के बाद 20 सेकेंड तक अपने हाथ धोएं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें