scorecardresearch
 

फेसबुक का दावा, न्यूज फीड में कम नजर आएंगी फिटनेस से जुड़ी झूठी बातें

फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म पर संवेदनात्मक और भ्रामक स्वास्थ्य, पोषण और फिटनेस संबंधी दावों को रोकने पर काम करना शुरू कर दिया है . बढ़ा-चढ़ा कर दिखाए जाने वाले स्वास्थ्य दावों और पोस्ट जो स्वास्थ्य पर आधारित किसी चीज या सेवा को बेचने की कोशिश करते हैं, इस तरह के पोस्ट को कम करने के लिए फेसबुक ने दो रैंकिंग अपडेट बनाए हैं.

प्रतीकात्मक फोटो (Pixabay Image) प्रतीकात्मक फोटो (Pixabay Image)

फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म पर संवेदनात्मक और भ्रामक स्वास्थ्य, पोषण और फिटनेस संबंधी दावों को रोकने पर काम करना शुरू कर दिया है ताकि आपके न्यूज फीड में इन्हें कम से कम दिखाया जा सके. बढ़ा-चढ़ा कर दिखाए जाने वाले स्वास्थ्य दावों और पोस्ट जो स्वास्थ्य पर आधारित किसी चीज या सेवा को बेचने की कोशिश करते हैं, इस तरह के पोस्ट को कम करने के लिए फेसबुक ने दो रैंकिंग अपडेट बनाए हैं.

फेसबुक ने मंगलवार को देर रात एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, "पहले अपडेट में हम इस बात पर विचार करते हैं कि यदि कोई पोस्ट स्वास्थ्य के बारे में अतिरंजित या भ्रामक संदेश देती है- जैसे कि किसी चमत्कारिक इलाज का सनसनीखेज दावा करना."

"दूसरे अपडेट में हम इस बात पर विचार करेंगे कि यदि कोई पोस्ट स्वास्थ्य संबंधित किसी ऐसी सेवा का प्रचार करती है जैसे कि किसी ऐसी दवाई या गोली का प्रचार करना जो वजन घटाने में आपकी मदद करेगी."

कंपनी का कहना है कि इस तरह के जो झूठे, भ्रामक दावे करते हैं उन्हें हम न्यूज फीड में कम से कम दिखाएंगे. फेसबुक का यह भी कहना है कि पेज को उन पोस्ट से बचना चाहिए जो लोगों में भ्रम पैदा करती है और स्वास्थ्य संबंधी दावों का उपयोग कर अपने उत्पादों को बेचने की कोशिश करते हैं.

फेसबुक ने कहा, "यदि कोई पेज इस तरह की चीजों को पोस्ट करना बंद कर देता है तो इस बदलाव से उनके पोस्ट पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा."

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें