scorecardresearch
 

इन लोगों को भूलकर भी नहीं खाना चाहिए ज्यादा आम, फायदे की जगह होगा नुकसान

Who Should not eat Mangoes: आम अधिकतर लोगों को काफी पसंद होते हैं. आम खाने में तो स्वादिष्ट होता ही है साथ ही शरीर को इससे कई तरह के फायदे भी मिलते हैं, लेकिन कुछ लोगों के लिए आम खाना काफी खतरनाक साबित हो सकता है. ऐसे में जरूरी है कि आप आम खाते समय सतर्क रहें. आइए जानते हैं किन लोगों को संभलकर करना चाहिए आम का सेवन.

X
इन लोगों को संभलकर ही खाना चाहिए आम, वरना हो जाएगा बड़ा नुकसान इन लोगों को संभलकर ही खाना चाहिए आम, वरना हो जाएगा बड़ा नुकसान

Mangoes Side Effect: आम अधिकतर लोगों को काफी पसंद होते हैं. गर्मियों के मौसम में रसीले आम खाने का मजा ही अलग होता है. आम स्वादिष्ट होने के साथ ही सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होता है. आम में  पोटैशियम, मैग्नीशियम, कॉपर और फाइबर भी पाया जाता है. लेकिन आम का सेवन करना कई बार आपके लिए काफी नुकसानदायक भी साबित हो सकता है. ऐसे में सवाल उठते हैं कि आम का सेवन कब और कितनी मात्रा में करना चाहिए?  क्या आप कभी भी आम खा सकते हैं? आम खाने का सबसे सही समय क्या है? या क्या आप सुबह के समय खाली पेट आम का सेवन कर सकते हैं ? तो आइए जानते हैं इन सभी सवालों के जवाब. 

आम करता है एनर्जी बूस्ट- 

डाइट इनसाइट की सी-फाउंडर डायटीशियन लवलीन कौर ने एक वेबसाइट से बात करते हुए बताया कि खाली पेट आम खाने में कोई समस्या नहीं है, क्योंकि ये एनर्जी को बूस्ट करते हैं, लेकिन जरूरी है कि  हम इसका सेवन बहुत अधिक मात्रा में ना करें. उन्होंने कहा, "हां, खाली पेट आम खाना बिल्कुल ठीक है. हमारे शरीर को सुबह में ऐल्कलाइन फूड्स की जरुरत होती है और इसलिए सुबह की शुरुआत खट्टे फलों की बजाय इन चीजों से करना अच्छा रहता है. आम का सेवन खाना खाने के ठीक बाद और रात में सोने से पहले करने से बचना चाहिए. क्योंकि इस समय आम का सेवन करने से आपके ब्लड में ग्लूकोज का लेवल बढ़ सकता है. 

इन लोगों को संभलकर करना चाहिए आम का सेवन

लवलीन कौर कहा, डायबिटीज के मरीज आम का सेवन कर सकते हैं लेकिन इसे खाते हुए उन्हें थोड़ी सावधानी बरतने की जरूरत होती है. डायबिटीज के मरीजों को यह सुझाव दिया जाता है कि वह आम के साथ फाइबर युक्त चीजों जैसे नट्स, बीज आदि चीजों का भी सेवन करें  ताकि ग्लाइसेमिक लोड को बैलेंस किया जा सके. साथ ही डायबिटीज के मरीजों को मौसम के शुरुआत में आने वाले आमों से बचना चाहिए क्योंकि इसमें मिलावट की संभावना काफी ज्यादा होती है. 

क्लाउडनाइन ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स, बेंगलुरु में चीफ क्लिनिकल न्यूट्रिशनिस्ट अभिलाषा वी का कहना है कि आम ज्यादातर लोगों के लिए ब्रेकफास्ट का एक अच्छा  ऑप्शन साबित हो सकता है.  लेकिन डायबिटीज और IBS  (Irritable Bowel Syndrome) की समस्या वाले लोगों को थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत होती है. अभिलाषा ने बताया, आप आम को सुबह के समय स्मूदी के रूप में ले सकते हैं या लस्सी में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं इसके अलावा शाम के मिल्कशेक और रात में खाना खाने के बाद मीठे के तौर पर आप आम खा सकते हैं लेकिन इसके लिए सबसे जरूर है कि आप इसका सेवन हिसाब से करें. अगर आप आम का सेवन हिसाब से करते हैं तो आप इसे कभी भी खा सकते हैं इससे आपको कोई नुकसान नहीं होगा.

डायबिटीज के मरीजों को आम का सेवन करते समय सावधान रहने की जरूरत होती है क्योंकि इससे आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है. इसके अलावा डायबिटीज के मरीजों को खाना खाने के बाद आम का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि यह शुगर लेवल के बढ़ने का कारण बन सकता है. अगर आपको डायबिटीज है तो आपको काफी कम हिस्सों में आम का सेवन करना चाहिए. इसके अलावा अगर आपको IBS (Irritable Bowel Syndrome) और एसिडिटी की समस्या है तो आपको खाली पेट आम का सेवन करने से बचना चाहिए. 

आम की क्वालिटी है बेहद महत्वपूर्ण

फंक्शनल न्यूट्रिशनिस्ट मुग्धा प्रधान ने कहा, "हम अक्सर यह सोचते हैं कि क्या खाली पेट आम खाना सही है तो इसका जवाब है हां. लेकिन सुबह के समय इसका सेवन बस वही लोग कर सकते हैं जिन्हें गंभीर इंसुलिन रेजिस्टेंस  या हाइपरग्लाइसेमिया (ब्लड शुगर का हाई लेवल) नहीं है. बाकी लोग खाना खाने के बाद आम का सेवन कर सकते हैं लेकिन एक बात का ध्यान रहे कि आम ऑर्गेनिक हो और उनमें किसी तरह की कोई मिलावट ना की गई हो. 

इसके अलावा मुग्धा ने ये भी कहा कि कुछ भी खाने से पहले आपको एक गिलास साधा पानी या उसमें नींबू का रस मिलाकर जरूर पीना चाहिए. इससे काम करने से पहले डाइजेस्टिव सिस्टम खुद को बूस्ट कर लेता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें