scorecardresearch
 

High Cholesterol Worst Foods: कोलेस्ट्रॉल लेवल को काफी ज्यादा बढ़ा सकती हैं ये चीजें, छोड़ने में ही भलाई

कोलेस्ट्रॉल हमारी बॉडी के लिए काफी जरूरी होता है. यह नर्वस सेल्स को प्रोटेक्ट करने, विटामिन बनाने और हार्मोन्स के उत्पादन में मदद करता है लेकिन इसका लेवल बढ़ने से आपको कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. ब्लड में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ने से आपको हार्ट डिजीज और स्ट्रोक जैसी समस्याएं हो सकती है.

X
कोलेस्ट्रॉल लेवल को काफी ज्यादा बढ़ा सकती हैं ये चीजें, छोड़ने में ही भलाई (Photo/Credit: Getty Images) कोलेस्ट्रॉल लेवल को काफी ज्यादा बढ़ा सकती हैं ये चीजें, छोड़ने में ही भलाई (Photo/Credit: Getty Images)

लीवर में बनने वाले वैक्स जैसे पदार्थ को कोलेस्ट्रॉल कहा जाता है. एक हेल्दी बॉडी के लिए कोलेस्ट्रॉल की काफी ज्यादा जरूरत पड़ती है. कोलेस्ट्रॉल कोशिकाओं के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह नर्वस सेल्स को प्रोटेक्ट करने, विटामिन बनाने और हार्मोन्स के उत्पादन का काम करता है. ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिन्हें खाने से भी शरीर को कोलेस्ट्रॉल मिलता है जैसे- मांस और डेयरी प्रोडक्ट्स. 

हमारे शरीर में मुख्य रूप से दो तरह का कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है- हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन (HDL) और लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन (LDL) कोलेस्ट्रॉल.

LDL कोलेस्ट्रॉल को खराब कोलेस्ट्रॉल भी कहा जाता है. LDL कोलेस्ट्रॉल का लेवल हाई होने से हार्ट डिजीज या स्ट्रोक का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है. 

HDL कोलेस्ट्रॉल को अच्छे कोलेस्ट्रॉल के रूप में जाना जाता है. यह आपके ब्लड से खराब कोलेस्ट्रॉल को लीवर तक ले जाता है और इससे छुटकारा दिलाता है. HDL कोलेस्ट्रॉल आपके शरीर को कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से भी बचाता है. 

क्यों खराब होता है हाई कोलेस्ट्रॉल?

कोलेस्ट्रॉल आपके खून से बहता है. LDL कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने से रक्त वाहिकाओं की दीवारों पर कोलेस्ट्रॉल जमने लगता है. जिस कारण इसका असर हृदय तक खून ले जाने वाली रक्त वाहिकाओं पर पड़ता है. रक्त वाहिकाओं में बहुत अधिक मात्रा में कोलेस्ट्रॉल जमने से ब्लड का फ्लो काफी कम हो जाता है जिससे आपको कई तरह की हार्ट डिजीज या स्ट्रोक जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. 

शरीर में LDL कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का मुख्य कारण स्मोकिंग, हाई ब्लड प्रेशर,डायबिटीज, और हाई फैट डाइट है. हमारे शरीर में ट्राइग्लिसराइड्स नाम का फैट पाया जाता है. जब ट्राइग्लिसराइड्स और LDL  कोलेस्ट्रॉल लेवल हाई और HDL कोलेस्ट्रोल लो होता है तो रक्त वाहिकाओं में प्लाक जमने लगता है. 

साथ ही, हाई सैचुरेटेड फैट युक्त चीजें भी ब्लड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ा सकती हैं. सैचुरेटेड फैट को अनहेल्दी फैट माना जाता है इसमें वो चीजें शामिल होती है जो कमरे के तापमान में भी सॉलिड रहती हैं. ये चीजें ब्लड में LDL कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ाने का काम करती हैं. ब्लड में LDL कोलेस्ट्रॉल का लेवल ज्यादा होने से रक्त वाहिकाओं में ब्लॉकेज होने लगती है जिससे हार्ट डिजीज और स्ट्रोक का खतरा बढ़ता है. इसके लिए जरूरी है कि आप उन चीजों के सेवन से बचें जिनमें सैचुरेटेड फैट पाया जाता है. आइए जानते हैं इन चीजों के बारे में...

ये 10 चीजें बढ़ा सकती हैं आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल

चॉकलेट और चॉकलेट स्प्रेड- चॉकलेट स्प्रेड में बहुत ज्यादा चीनी और सैचुरेटेड फैट होता है. वहीं, दूध और व्हाइट चॉकलेट में भी हाई लेवल में सैचुरेटेड फैट होता है जो आपके कोलेस्ट्रॉल के लिए खराब माना जाता है. ऐसे में जरूरी है कि चॉकलेट और चॉकलेट स्प्रेड खरीदते समय आप इसके लेबल पर लिखी चीजों को अच्छी तरह से चेक कर लें. अगर आपको मीठा खाने का मन करता है तो आप डार्क चॉकलेट खा सकते हैं. 

चीज़- चीज़ में सैचुरेटेड फैट की मात्रा काफी ज्यादा होती है खासतौर पर जो चीज़ फुल फैट मिल्स से बनी होती है. हालांकि कम मात्रा में चीज़ का सेवन करना आपके लिए खतरनाक नहीं होता लेकिन इसका सेवन बहुत ज्यादा करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने लगता है. 

नारियल का तेल- नारियल के तेल में 90 फीसदी सैचुरेटेड फैट होता है. नारियल  का तेल मक्खन से भी ज्यादा बेकार माना जाता है. नारियल के तेल का सेवन करने से HDL और LDL दोनों ही काफी ज्यादा बढ़ने लगते हैं. बहुत अधिक मात्रा में नारियल तेल का सेवन करने से हार्ट डिजीज का खतरा काफी ज्यादा बढ़ सकता है. 

लीवर और ऑफल- लीवर की तरह ऑफल या ऑर्गन मीट पोषक तत्वों के बहुत अच्छे सोर्स होते हैं, लेकिन इनमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत अधिक होती है. बीफ लीवर और भेड़ के बच्चे का लीवर, किडनी और दिल में सैचुरेटेड फैट और कोलेस्ट्रॉल का लेवल काफी ज्यादा हाई होता है.

फ्राइड फास्ट फूड- फ्रेंच फ्राइज या फ्राइड चिकन जैसे डीप-फ्राइड फास्ट फूड सैचुरेटेड फैट , नमक और हाई कैलोरी से भरे होते हैं. ये आपके कोलेस्ट्रॉल के लेवल के लिए खराब माने जाते हैं. फ्राइड फास्ट फूड का नियमित और अधिक मात्रा में सेवन करने से HDL कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होने लगता है और LDL कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ने लगता है. शरीर में हेल्दी कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बनाए रखने के लिए फास्ट फूड का सेवन सीमित मात्रा में करें.

बटर और चर्बी- मक्खन और पशुओं की चर्बी में हाई मात्रा में सैचुरेटेड फैट पाया जाता है जो आपके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ा सकता है. आप खाने में मक्खन की बजाय ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं. 

रेड मीट- बीफ और लैंब जैसे रेड मीट में सैचुरेटेड फैट और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है. अगर आप अपने शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो रेड मीट के बजाय चिकन का सेवन करें. 

प्रोसेस्ड मीट- बेकन या सॉसेज जैसे प्रोसेस्ड मीट में नमक और फैट की मात्रा अधिक होती है. डिब्बाबंद, नमकीन, स्मोक्ड, ड्राइड मीट में भी सैचुरेटेड फैट अधिक होता है, जो आपके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ा सकता है. अगर आप अपने कोलेस्ट्रॉल को कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो सलामी, हैम, कॉर्न बीफ और बीफ जर्की जैसी चीजों को खाने से बचें. 

क्रीम- फुल फैट मिल्क से बनी हैवी क्रीम में सैचुरेटेड फैट की मात्रा काफी ज्यादा होती है. मार्केट में मिलने वाली व्हीप्ड क्रीम भी आपके लिए हानिकारक साबित हो सकती है. यह कैलोरी को बढ़ाने के साथ ही  कोलेस्ट्रॉल के लेवल को भी बढ़ाती है. 

पैकेज्ड फूड- पैकेज्ड स्नैक्स और मिठाई जैसे चिप्स, डोनट्स, केक, बिस्कुट और कुकीज में सैचुरेटेड फैट और कैलोरी की मात्रा काफी ज्यादा होती है. अगर आप नियमित रूप से इनमें से किसी भी चीज का सेवन करते हैं तो आपके कोलेस्ट्रॉल का लेवल काफी बढ़ सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें