scorecardresearch
 

Diabetes and Fruit: डायबिटीज के मरीज जरूर करें इन फलों का सेवन, मेंटेन रहेगा ब्लड शुगर लेवल

डायबिटीज के मरीजों को अपने खानपान का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है ताकि ब्लड शुगर लेवल मेंटेन रहे. ऐसे में लोग कोशिश करते हैं कि वह ऐसी चीजों का सेवन करें जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI) लो होता है. लेकिन जब बात फ्रूट्स की आती है तो ये लोग काफी कंफ्यूज हो जाते हैं कि उन्हें किन फ्रूट्स का सेवन करना चाहिए और किन का नहीं. तो आइए जानते हैं कौन से फल डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद साबित होते हैं.

X
डायबिटीज के मरीज जरूर करें इन फलों का सेवन
डायबिटीज के मरीज जरूर करें इन फलों का सेवन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इन हेल्दी फ्रूट्स का सेवन कर सकते हैं डायबिटीज के मरीज
  • इनका जीआई लेवल होता है कम

आपने अक्सर लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि डायबिटीज के मरीजों को फ्रूट्स का सेवन नहीं करना चाहिए.  फलों में कार्बोहाइड्रेट और नेचुरल शुगर होता है जिसे फ्रुक्टोज कहा जाता है,जिससे आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है. लेकिन फिर भी आपको अपनी मील में फ्रूट्स को जरूर शामिल करना चाहिए क्योंकि फलों में विटामिन, मिनरल्स और फाइटोकेमिकल्स होते हैं.  

फलों में पाए जाने वाले फाइटोकेमिकल्स की वजह से हार्ट डिजीज, कैंसर, और स्ट्रोक का खतरा कम होता है और यह आपकी ओवरओल हेल्थ को बूस्ट करता है. फलों का सेवन इसलिए भी जरूरी है कि क्योंकि डायबिटीज हार्ट डिजीज और अन्य समस्याओं के जोखिम से जुड़ा हुआ होता है. बहुत से फलों में फाइबर की मात्रा भी पाई जाती है. फाइबर आपके डाइजेशन को स्लो करने, ब्लड शुगर स्पाइक को बढ़ने से रोकने में मदद करता है. साथ ही इससे आप लंबे समय तक फुल महसूस करते हैं. जिस कारण आपका वजन नहीं बढ़ता.

ब्लड शुगर पर क्या असर डालते हैं फ्रूट्स?

फ्रूट्स में कार्बोहाइड्रेट होने की वजह से यह ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाने का काम करते हैं. इसलिए जरूरी है कि आप एक दिन में कितना कार्ब्स का सेवन कर रहे हैं इसे काउंट करें और दवाइयों, हेल्दी लाइफस्टाइल से इसे बैलेंस करें. लेकिन अगर आपको अपने ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन रखने में दिक्कत आ रही है तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें. 

एक कटोरी फ्रूट्स में 15 ग्राम कार्ब्स होता है. लेकिन सर्विंग साइज इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप कौन सा फल खा रहे हैं. आइए जानते हैं किन फ्रूट्स में होता है 15 ग्राम कार्ब्स- 

आधा मीडियम सेब और केला
1 कप ब्लैकबेरी और रसभरी
3/4 कप ब्लूबेरीज
11/4 कप स्ट्रॉबेरीज
1 कप हनीड्यू तरबूज
1/8 कप किशमिश

डायबिटीज में सिर्फ कार्ब्स ही एक चीज नहीं है जिसे ध्यान में रखना चाहिए बल्कि ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी काफी जरूरी होता है.  ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) मापता है कि कैसे फूड आपके ब्लड शुगर को प्रभावित करता है. जिन खाद्य पदार्थों का जीआई लेवल कम होता है वह शरीर में ब्लड शुगर लेवल को धीरे-धीरे बढ़ाने का काम करते हैं वहीं,  जिन खाद्य पदार्थों का जीआई लेवल अधिक होता है वह काफी तेजी से ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाने का काम करते हैं. 

बहुत कम जीआई फूड्स का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है. लेकिन ये हमेशा आपके लिए सही नहीं होते. एक कैंडी बार और एक कप ब्राउन राइस की जीआई वेल्यू एक समान होती है. ऐसे में जरूरी है कि आप कुछ भी खाते समय न्यूट्रिशन का खास ख्याल रखें. 

ये हैं लो जीआई फ्रूट्स

ताजे फलों में मौजूद फाइबर उनमें से अधिकांश को जीआई स्केल (55 या उससे कम) पर कम रखने में मदद करता है. इसमें शामिल हैं-

सेब
संतरा
केला
आम
खजूर
नाशपाती

ये हैं हाई जीआई फ्रूट्स

कुछ ऐसे फ्रूट्स भी हैं जिनका जीआई लेवल 70 या उससे भी ज्यादा होता है, इसमें शामिल हैं- 

अनानास
तरबूज

डायबिटीज के मरीज इन हेल्दी फ्रूट्स को कर सकते हैं डाइट में शामिल

सभी फ्रूट्स में विटामिन, फाइटोकेमिकल्स और कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकते हैं. लेकिन कुछ फ्रूट्स ऐसे होते हैं जो क्रॉनिक डिजीज के खतरे को कम कर सकते हैं. आइए जानते हैं उन फ्रूट्स के बारे में - 

ब्लैकबेरी- एक कप ब्लैकबेरी में 62 कैलोरीज, 14 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 7.6 ग्राम फाइबर होता है. 

स्ट्रॉबेरीज- एक कप स्ट्रॉबेरीज में 46 कैलोरीज, 11 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 3 ग्राम फाइबर होता है. 

टमाटर- एक कप टमाटर में 32 कैलोरीज, 7 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 2 ग्राम फाइबर होता है. 

ऑरेंज- एक मीडियम ऑरेंज में 69 कैलोरीज. 17 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 3 ग्राम फाइबर होता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें