scorecardresearch
 

सर्वाइकल और कमर दर्द की वजह बन रहा स्मार्टफोन, ऐसे रखें अपना ख्याल

क्या आप जानते हैं आपकी पॉकेट में समाने वाला एक छोटा सा स्मार्टफोन बड़ी बीमारी का कारण बन सकता है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

स्मार्ट गैजेट आज इंसान की सबसे बड़ी जरूरत बन गया है. इसके बिना हमारे सभी काम अधूरे हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं आपकी पॉकेट में समाने वाला एक छोटा सा स्मार्टफोन बड़ी बीमारी का कारण बन सकता है. मोबाइल या लैपटॉप का गलत तरीके से इस्तेमाल कमर और गर्दन में दर्द की वजह बन रहा है.

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसिन डिपार्टमेंट द्वारा ग्रामीण इलाकों में मरीजों पर किए गए एक शोध में यह बात सामने आई है. इस शोध में पता चला कि 60 प्रतिशत लोग मस्कुलोस्केल्टन डिसऑर्डर यानी जोड़ों के दर्द से परेशान थे. गैजेट का गलत तरह से इस्तेमाल करने से लोगों में जोड़ों के दर्द और सर्वाइकल जैसी समस्याएं बढ़ रही हैं.

यह शोध 200 लोगों पर किया गया था जिसमें से 54 फीसदी को कमर दर्द की शिकायत थी. बता दें कि स्मार्टफोन की डिस्प्ले को 60 डिग्री से ज्यादा गर्दन मोड़कर देखने से अक्सर ऐसी शिकायतें होती हैं. इससे हमारी रीढ़ की हड्डी निरंतर मुड़ने की अवस्था में रहती है और बाद में यही दर्द का कारण बन जाती है.

कैसे करें बचाव?

अगर आप स्मार्टफोन या लैपटॉप के कारण बढ़ रही इस परेशानी से निजात पाना चाहते हैं तो कुछ खास बातों का ध्यान रखने की जरूरत है.

1. कंप्यूटर स्क्रीन से अपनी आंखों को करीब 80 सेंटीमीटर दूर रखें.

2. फोन को कान और कंधे के बीच फंसाकर बात न करें. ऐसे में ईयरफोन का इस्तेमाल ज्यादा बेहतर विकल्प होगा.

3. स्मार्टफोन पर चिपके रहने की बजाय थोड़ा वक्त अपनी फीजिक के लिए निकालें और करीब 20 मिनट टहलें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें