scorecardresearch
 

'पल्लवी पुरकायस्थ के हत्यारे को मिले मौत की सजा', पिता ने बॉम्बे हाईकोर्ट में दाखिल की याचिका

साल 2012 का पल्लवी पुरकायस्थ हत्याकांड फिर से चर्चा में है. इस चर्चित हत्याकांड में सजायाफ्ता सज्जाद गनी पठान को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. अब पल्लवी के पिता ने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर कर अपनी बेटी की हत्या के मामले में दोषी करार दिए जा चुके सज्जाद को मौत की सजा देने की मांग की है.

X
बॉम्बे हाईकोर्ट (फाइल फोटो)
बॉम्बे हाईकोर्ट (फाइल फोटो)

वकील पल्लवी पुरकायस्थ की 9 अगस्त साल 2012 को मुंबई स्थित फ्लैट में हत्या हो गई थी. मुंबई के वडाला उपनगर में हुई इस वारदात के आरोपी सज्जाद मुगल पठान को कोर्ट ने दोषी करार दिया था. कोर्ट ने सज्जाद को साल 2014 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. पल्लवी पुरकायस्थ के पिता ने अब सज्जाद की सजा बढ़ाने की मांग को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

पल्लवी पुरकायस्थ के पिता अतनु पुरकायस्थ की ओर से हाईकोर्ट में सजा बढ़ाने की याचिका अधिवक्ता अभिषेक येंडे ने दाखिल की है. याचिकाकर्ता ने कहा है कि वारदात जितनी जघन्य थी, सत्र अदालत की ओर से दोषी को सुनाई गई सजा उस अनुपात में नहीं है. पल्लवी पुरकायस्थ के पिता की ओर से दाखिल याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट में 22 सितंबर को सुनवाई होगी.

याचिकाकर्ता ने ये भी कहा है कि पल्लवी की हत्या के मामले में सजायाफ्ता सज्जाद का व्यवहार से साफ है कि इस नृशंस हत्या के पीछे क्या मकसद था. दोषी ने महिलाओं पर कमेंट पास किए और उन्हें घूरा. इस बात की पुष्टि करने के लिए भी ठोस सबूत हैं कि पल्लवी पुरकायस्थ ने कई मौकों पर अपने प्रेमी और उसके दोस्तों को ये बताया था कि किस तरह उसने उसे असहज कर दिया.

याचिका में ये भी कहा गया है कि सज्जाद के अपने बयान भी पल्लवी पुरकायस्थ को लेकर उसके वासनापूर्ण इरादे की ओर इशारा करते हैं. याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया है कि सज्जाद ने अपनी भरोसे वाली पोजिशन का दुरुपयोग किया. पीड़िता अकेली थी जब उसने ये सुनिश्चित कर लिया, तब उसने यौन उत्पीड़न और उसकी हत्या की योजना बनाई.

पल्लवी पुरकायस्थ के पिता अतनु पुरकायस्थ ने सजा में संशोधन की मांग करने वाली याचिका दायर करने में हुई देरी के लिए भी एक याचिका दायर की है. बॉम्बे हाईकोर्ट के जस्टिस न्यायमूर्ति प्रसन्ना बी वरले और जस्टिस शर्मिला यू देशमुख की खंडपीठ ने 22 सितंबर को सुनवाई के लिए पोस्ट कर दिया है. पल्लवी की हत्या के मामले में दोषी करार दिए गए सज्जाद की सजा बढ़ाने की मांग को लेकर दायर याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट में 22 सितंबर को सुनवाई होगी.

गौरतलब है कि पल्लवी पुरकायस्थ भक्ति पार्क की एक इमारत में रहती थी. पल्लवी पुरकायस्थ अपने लिव इन पार्टनर अविक के साथ रहती थी. पल्लवी शाम 5 बजे तक घर आ जाती थी जबकि अविक के घर आने की कोई टाइमिंग नहीं थी. पल्लवी के परिजनों के मुताबिक 8 अगस्त 2012 की शाम उसने अपने लिव इन पार्टनर को फोन कर बताया कि बिजली में कुछ समस्या है और वो सिक्योरिटी गार्ड से बात कर इलेक्ट्रिशियन को लाने के लिए बोले.

आरोप के मुताबिक पल्लवी का लिव इन पार्टनर सुबह जब घर पहुंचा. उसने देखा कि पल्लवी का खून से लथपथ शव पड़ा था. उसकी चाकू से बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. इस मामले में वडाला टीटी पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की और 10 अगस्त को सज्जाद को गिरफ्तार कर लिया गया था. बाद में ये केस क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दिया गया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें