scorecardresearch
 

CJI यूयू ललित के कार्यकाल का पहला दिन... 10 PIL समेत 62 मामलों की सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

चीफ जस्टिस यूयू ललित के कार्यकाल का आज पहला दिन है. चीफ जस्टिस यूयू ललित के कार्यकाल के पहले दिन 10 जनहित याचिका समेत कुल 62 मामलों की सुनवाई होनी है. सॉलिसीटर जनरल और वरिष्ठ वकीलों ने नए सीजेआई को शुभकामनाएं दी हैं. नए सीजेआई ने कहा है कि अर्जेंट मामलों की सुनवाई को लेकर एक से दो दिन में रेगुलेशन तैयार कर लिया जाएगा.

X
CJI यूयू ललित (फाइल फोटो)
CJI यूयू ललित (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस यूयू ललित के कार्यकाल का आज पहला दिन है. सीजेआई यूयू ललित के कार्यकाल के पहले दिन सुप्रीम कोर्ट में कुल 62 मामलों की सुनवाई होनी है. बतौर चीफ जस्टिस यूयू ललित के कार्यकाल के पहले दिन सुप्रीम कोर्ट में जिन 62 मामलों की सुनवाई होनी है, उनमें 10 जनहित याचिका यानी PIL भी शामिल है.

सुप्रीम कोर्ट की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक चीफ जस्टिस यूयू ललित की बेंच में जस्टिस रवींद्र भट्ट और जस्टिस जेबी पारदीवाला भी शामिल होंगे. चीफ जस्टिस यूयू ललित की अगुवाई वाली बेंच भी आज मामलों की सुनवाई करेगी. सुप्रीम कोर्ट की ओर से आज जिन मामलों की सुनवाई होनी है, उसकी सूची जारी कर दी गई है.

जारी सूची के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट में आज कुल 62 मामलों में सुनवाई होनी है. नए चीफ जस्टिस यूयू ललित के कार्यकाल का आज पहला दिन भी है और बतौर चीफ जस्टिस उनके कार्यकाल के पहले दिन ही 62 मामलों में सुनवाई होगी जिसमें 10 पीआईएल शामिल हैं. CJI यूयू ललित की बेंच पहली बार असेंबल हुई है.

सीनियर एडवोकेट दुष्यंत दवे ने सीजेआई को कार्यकाल के लिए शुभकामनाएं दी हैं. सॉलिसीटर जनरल ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट को सरकार हर तरह से सहयोग करेगी. केंद्र के सॉलिसीटर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि दिवाला और दिवालियापन अधिनियम को चुनौती देने से जुड़े कई मामले लंबित हैं. इससे जुड़े दो अलग-अलग मामले दो अलग-अलग पीठ के सामने सूचीबद्ध हैं.

CJI यूयू ललित ने वकीलों को संबोधित करते हुए कहा कि अर्जेंट मामलों की हियरिंग को लेकर रेगुलेशन एक से दो दिन के अंदर तैयार कर लिए जाएंगे. उन्होंने ये भी कहा कि आप स्थगित करने या फैसले के लिए बेंच पर दबाव बना सकते हैं. CJI यूयू ललित ने ये भी कहा कि हम मामलों को क्लब करने को लेकरभी निर्णय लेंगे.

सुनवाई से जुड़ा नया नियम

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से संबंधित कुछ नियमों में भी नए चीफ जस्टिस के कार्यकाल में बदलाव हो गया है. चीफ जस्टिस यूयू ललित के कार्यकाल में सुनवाई से जुड़ा जो बड़ा बदलाव हुआ है, वो मंलवार, बुधवार और गुरुवार को कोर्ट-1 में सुनवाई से जुड़ा है. सुप्रीम कोर्ट के कोर्ट नंबर 1 में अब मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को सुबह के समय केवल नियमित सुनवाई से संबंधित मामलों पर ही सुनवाई होगी. अन्य सभी मामलों पर सुनवाई दोपहर दो बजे के बाद होगी.

27 अगस्त को ली थी शपथ

गौरतलब है कि चीफ जस्टिस एनवी रमना 26 अगस्त को रिटायर हो गया थे. चीफ जस्टिस एनवी रमना के रिटायर हो जाने के बाद जस्टिस यूयू ललित को चीफ जस्टिस बनाया गया. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 27 अगस्त के दिन जस्टिस यूयू ललित को भारत के मुख्य न्यायाधीश की शपथ दिलाई थी. हालांकि, तब शनिवार और रविवार पड़ जाने के कारण सुप्रीम कोर्ट में कामकाज नहीं हुआ था.

चीफ जस्टिस के पद पर यूयू ललित की नियुक्ति के बाद ये पहला दिन है जब सुप्रीम कोर्ट में मामलों की सुनवाई हो रही है. बता दें कि CJI यूयू ललित के कार्यकाल में संविधान पीठ भी बैठेगी जिसे संविधान से जुड़े मामलों की सुनवाई करनी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें