scorecardresearch
 

कवि केदारनाथ सिंह को आजतक की श्रद्धांजलि

हिंदी के वरिष्ठ कवि केदारनाथ सिंह ने 19 मार्च 2018 को दिल्ली के एम्स में अंतिम सांस ली. उनका जन्म 1934 में उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के चकिया गांव में हुआ था. हिंदी और कविता को जीने वाले सच्चे कवि केदारनाथ का योगदान अविस्मरणीय है. तार सप्तक का सबसे अहम तार टूटकर बिखर गया है. यह हिंदी की एक बड़ी दुर्घटना है. आजतक डिजिटल के संपादक पाणिनि आनंद की जुबानी सुनिए केदारनाथ की कुछ कविताएं.....

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें