scorecardresearch
 

शिशु योजना के नाम पर ठगी का पर्दाफाश, सात गिरफ्तार, 46 लाख बरामद

पुलिस ने कुछ ही दिनों में धन डेढ़ गुना करने के नाम पर ठगी करने वाली चिटफंड कंपनी का पर्दाफाश करते हुए सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया.

प्रतीकात्मक चित्र (फोटोः आज तक) प्रतीकात्मक चित्र (फोटोः आज तक)

प्रशासन के लाख उपाय, जन जागरुकता के लिए किए जा रहे प्रयासों के बावजूद ठगी के मामले नहीं थम रहे. पुलिस प्रशासन ठगी रोकने के उपाय कर रहा, तो ठग भी नए-नए तरीके इजाद कर ले रहे. उत्तराखंड में अब शिशु योजना के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है. पुलिस ने कुछ ही दिनों में धन डेढ़ गुना करने के नाम पर ठगी करने वाली चिटफंड कंपनी का पर्दाफाश करते हुए सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया.

एयरवे इंटरप्राइजेज नाम की यह कंपनी शिशु योजना उत्तराखंड का कार्ड बनाकर लोगों को ठगी का शिकार बना रही थी. पुलिस ने राजधानी के उमा विहार कॉलोनी में छापेमारी कर सात को गिरफ्तार करने के साथ ही इनके कब्जे से 46 लाख नकदी, कई फर्जी दस्तावेज बरामद किए. पत्रकारों से बात करते हुए देहरादून के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) अरुण मोहन जोशी ने कहा कि यह लोग 15 दिनों में डेढ़ गुना पैसा वापस करने लालच देकर ठगी का शिकार बना रहे थे.

उन्होंने कहा कि राजधानी में पैसे को दोगुना करने के नाम पर ठगी के कई मामले सामने आते हैं, जिसे देखते हुए पुलिस लगातार ऐसे लोगों और फर्जी कंपनियों पर नजर बनाए हुए है. बताया जाता है कि उक्त कंपनी की ओर से लोगों को यह प्रलोभन दिया जाता था कि 15 दिन बाद से ही किश्तों में धन की वापसी शुरू कर दी जाएगी. इस प्रलोभन में कई लोग फंस गए और कंपनी ने भोली-भाली जनता की गाढ़ी कमाई के लाखों रुपये जमा करा लिए.

बता दें कि पूर्व में भी कई चिटफंड कंपनियों द्वारा खून-पसीने की कमाई कम समय में दोगुना करने का लालच देकर ठगी करने की घटनाएं हो चुकी हैं. प्रशासन की ओर से भी जागरुकता के कई अभियान भी चला चुका है, लेकिन फिर भी ठग अपने मंसूबों में कामयाब हो जा रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें