scorecardresearch
 

Ankita Bhandari के दोस्त पुष्प के वो चार Tweet, मिंसिग से लेकर हैरेसमेंट तक लिखी थी ये बातें

Ankita Bhandari Case: अंकिता के गायब होने के बाद उसके दोस्त पुष्प ने ट्वीट किए थे. अपने ट्वीट में सीएम धामी से लेकर पुलिस अधिकारियों तक को अंकिता के मिसिंग होने की जानकारी दी थी. पुलकित आर्य का नाम लिखकर हैरेसमेंट करने की बात की भी बताई थी. बाद में अंकिता का शव 24 सितंबर को नहर से बरामद किया गया था.

X
अंकिता भंडारी ( फाइल फोटो )
अंकिता भंडारी ( फाइल फोटो )

पुलकित आर्य के रिजॉर्ट वनंतरा की रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी (Ankita Bhandari) के गायब होने के बाद उसके जम्मू वाले दोस्त पुष्प ने कई ट्वीट किए थे. अपने ट्वीट में पुष्प ने सीएम धामी (CM Pushkar Singh Dhami), उत्तराखंड पुलिस (Uttarakhand Police), आईएस अधिकारी दीपक रावत (IAS Deepak Rawat), आईपीएस अशोक कुमार (IPS Ashok Kumar) को भी टैग किया था.

पुष्प ने इन सभी को टैग करते हुए अंकिता के मिसिंग होने की जानकारी भी दी थी. अपने तीन ट्वीट में उसने रिजॉर्ट की डिटेल और उसके मालिक पुलकित आर्य का नाम भी लिखा था. अंकिता भंडारी 18-19 सितंबर की रात से गायब हुई थी. इसके बाद पुष्प का उससे संपर्क नहीं हो पा रहा था. अंकिता के मिसिंग होने के बाद पुष्प ने 20 सितंबर को लगातार तीन ट्वीट किए थे.

अपने पहले ट्वीट में पुष्प ने लिखा था, ''मेरी 19 साल की एक दोस्त अंकिता भंडारी वनंतरा रिसॉर्ट, चिल्ला रोड गंगा भोगपुर तल्ला, ऋषिकेश में काम कर करती है. रिजॉर्ट के मालिक का नाम- पुलकित आर्य है. पहले वह अच्छा था, लेकिन कुछ दिनों बाद वह अंकिता को प्रताड़ित करने लगा. वह शराब पीकर प्रताड़ित करता है.''

अंकिता भंडारी की हत्या के बाद तीनों आरोपी एक ही कहानी सुना रहे हैं

अपने दूसरे ट्वीट में पुष्प ने लिखा था, ''वह उसे परेशान करता है, अगले दिन उसने माफी मांगी कि मैं शराब के नशे में था, मुझे माफ कर दो. जैसे-तैसे उनको उसने वहां काम करने के लिए मना लिया और पिछले 2-3 दिनों से जबरदस्ती उसको (अंकिता को) गेस्ट को एक्स्ट्रा सर्विस देने के लिए बोला था. अंकिता ने मना कर दिया. 18 सितंबर को उसे (अंकिता) फिर से प्रताड़ित किया गया.''

तीसरे ट्वीट में पुष्प कहता है, ''और शाम को उसको बहला-फुसला कर बाहर ले गया, तब मेरी लास्ट टाइम अंकिता से बात हुई थी, जब वो बाहर थे. तब अंकिता ने  बोला था मैं वापिस रिजॉर्ट पहुंच कर बात करूंगी. लेकिन 18 सितंबर रात 9 बजे से उनका फोन बंद है और ये ओनर (मालिक), मैनेजर और एक असिस्टेंट अंकिता को बाहर ले गए थे. तब से वो गायब है. 36 घंटे हो गए हैं, प्लीज हेल्प, अभी तक कोई भी अता-पता नहीं है. जैसे वो इतने दिन से मेंटली हैरेस कर रहा था, वही है जो लास्ट टाइम अंकिता को बाहर ले गया था, प्लीज हेल्प.''

यह है पूरा मामला

वनंतरा रिजॉर्ट में काम करने वाली अंकिता 18-19 सितंबर की रात से गायब थी. रिजॉर्ट का मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर सौरभ भास्कर और अंकित तीनों मिलकर अंकिता को अपने साथ ले गए थे. उन तीनों ने मिलकर पावर हाउस के पास शक्ति नहर में अंकिता को धक्का दे दिया. वापस आने के बाद अंकिता के गायब होने की झूठी कहानी रची थी. 

24 सितंबर को मिली थी अंकिता भंडारी की लाश

नहर से 24 सितंबर को मिली थी लाश

घटना के करीब सात दिन बाद 24 सितंबर को अंकिता की डेड बॉडी को एसडीआरएफ की टीम ने नहर से बरामद किया था. अंकिता पर पुलकित आर्य की गंदी नजर थी. उसने अंकिता के साथ जबरदस्ती करने की कोशिश करने के साथ ही उसे रिजॉर्ट में आने वाले गेस्ट को एक्स्ट्रा सर्विस देने के लिए भी कहा था. 

अंकिता अपने साथ हो रहे इस व्यवहार की हर जानकारी पुष्प को देती थी. दोनों के बीच हुई वॉट्सऐप चैट भी सामने आई थी. पुलिस ने इस मामले में बीजेपी नेता के बेटे पुलकित आर्य सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर किया है. तीनों दोषियों को फांसी दिए जाने की मांग की जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें