scorecardresearch
 

अमित बनकर ताहिर पहुंचा था अग्निवीर भर्ती में, सेना को हुआ शक और खुल गई पोल

उत्तराखंड के रानीखेत में चल रहे अग्निवीर भर्ती परीक्षा में ताहिर नाम का शख्स अपनी पहचान बदलकर पहुंचा था. सेना को शक हुआ. इसके बाद उसके दस्तावेज चेक किए गए, जो फर्जी निकला. ताहिर के पास जो एडमिट कार्ड था, उस पर अमित नाम लिखा था. पुलिस ने ताहिर को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है.

X
आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया
आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया

उत्तराखंड में अल्मोड़ा जिले के रानीखेत में पिछले 4 दिनों से अग्निवीर भर्ती चल रही है. कुमाऊं के युवा अपनी-अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, लेकिन आज एक अनोखा मामला सामने आया है. उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर का ताहिर नाम का युवक फर्जी स्थाई, जाति, निवास प्रमाण पत्र व आधार कार्ड नैनीताल जिले के हल्द्वानी शहर का बनवाकर लाया था.

मगर ताहिर खान को मिले एडमिट कार्ड में दर्ज रजिस्ट्रेशन नंबर किसी और युवा के नाम पर दर्ज मिला. इससे आर्मी के अधिकारियों को शक हुआ और उन्होंने इसकी पड़ताल कर फर्जी दस्तावेज होने पर ताहिर को रानीखेत पुलिस को सौंप दिया. ताहिर ने जो एडमिट कार्ड दिखाया था, उस पर अमित नाम लिखा हुआ था.

क्या है पूरा मामला

सोमनाथ ग्राउण्ड रानीखेत में भर्ती के दौरान जब एक युवक अपने दस्तावेज लेकर आया तो मिल्ट्री इंटीलिजेंस, मिल्ट्री पुलिस और भर्ती कार्यालय को उस पर शक हुआ. इस पर आर्मी अफसरों की संयुक्त कार्यवाही के दौरान युवक के दस्तावेज चेक किया गया तो उसका दस्तावेज फर्जी निकला. इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई. 

रानीखेत पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर जांच की गयी तो पाया कि एक युवक जिसका नाम ताहिर खान पुत्र अहसान खान निवासी अलीपुरा थाना ककोड़ तहसील सिकन्दराबाद जिला बुलन्दशहर (उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है, उसके द्वारा अपने फर्जी स्थाई निवास, जाति निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड जनपद नैनीताल के हल्द्वानी से बनवाया गया था.

ताहिर खान को निर्गत एडमिट कार्ड में दर्ज रजिस्ट्रेशन नम्बर किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर रजिस्टर्ड है. इस मामले में ए0आर0ओ0 भर्ती बोर्ड की तहरीर के आधार पर ताहिर खान को गिरफ्तार कर कोतवाली रानीखेत में धारा 420 IPC में अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक कार्यवाही की गई है.

रानीखेत के सीओ तिलक राम वर्मा ने कहा कि रानीखेत में अग्निवीर योजना के अंतर्गत भर्ती चल रही है, हमे सूचना मिली कि एक युवक का रजिस्ट्रेशन किसी और के नाम से हो रखा है तो हमने मौके पर पुलिस टीम भेजी तो पता चला कि जो लड़का ताहिर है, उसका रजिस्ट्रेशन किसी अमित नाम से हो रखा है.

सीओ तिलक राम वर्मा ने कहा कि ये लड़का वेसे तो बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश का है मगर जो इसने दस्तावेज बनाएं है वो रेलवे बाजार हल्द्वानी का है, जो कि एसडीएम हल्द्वानी द्वारा जारी किया गया है और जो इसका हाइस्कूल का प्रमाण पत्र है वो गदरपुर का बना हुआ है, इस आधार पर जो इसके दस्तावेज है वो फर्जी पाए गए हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें