scorecardresearch
 

अयोध्या: भूमि पूजन के लिए रामलला की पोशाक तैयार, हरे रंग के मखमली कपड़े में आएंगे नजर

आज ही राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को भगवान राम के वस्त्र सौंपे गए हैं. भगवान राम की पोशाक हरे रंग के मखमली कपड़े में नवरत्न जड़ित है. भगवान राम के साथ लक्ष्मण, भरत शत्रुघ्न और बजरंग बलि के लिए भी एक जैसी पोशाक तैयार करवाई गई है.

अयोध्या में चल रही है तैयारी (फोटो- पीटीआई) अयोध्या में चल रही है तैयारी (फोटो- पीटीआई)

  • भगवान राम की पोशाक बनकर तैयार हो गई है
  • राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को सौंपे गए रामलला के वस्त्र

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं. अयोध्या नगरी को अलग-अलग तरीके से सजाया जा रहा है. सड़क के किनारे दीवारों पर पेंटिंग की जा रही है. 5 अगस्त के लिए खास तौर पर भगवान राम के लिए तैयार की जा रही पोशाक बनकर तैयार हो गई है.

आज ही राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को भगवान राम के वस्त्र सौंपे गए हैं. भगवान राम की पोशाक हरे रंग के मखमली कपड़े में नवरत्न जड़ित है. भगवान राम के साथ लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न और बजरंग बलि के लिए भी एक जैसी पोशाक तैयार करवाई गई है. पोशाक के साथ हरे रंग के पर्दे और बिछौना भी तैयार करवाया गया है. इन्हीं वस्त्रों को धारण करवाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भगवान राम के दर्शन और पूजा पाठ करेंगे.

सुन्नी वक्फ बोर्ड को भी दिया जा सकता है निमंत्रण

राम जन्मभूमि के कार्यक्रम के लिए राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट ने कुल 208 लोगों की लिस्ट तैयार की है. माना जा रहा है कि लिस्ट में अभी और काट-छांट होगी. आखिरी तौर पर 170 से 180 लोग ही 5 अगस्त को भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे. लिस्ट में आरएसएस के शीर्ष 11 नेता जिनमें मोहन भागवत, भैया जी जोशी, कृष्ण गोपाल, दत्तात्रेय होसबोले और लखनऊ के क्षेत्र प्रचारक अनिल कुमार शामिल हैं.

अयोध्या में दिखेगी गंगा-जमुनी तहजीब, भूमि पूजन के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को न्योता

राम मंदिर भूमि पूजन के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड के सदस्यों को भी आमंत्रित किया जा सकता है. सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष जफर फारूखी, अयोध्या के समाजसेवी पद्म श्री मोहम्मद शरीफ, बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी का नाम आमंत्रित लोगों की सूची में शामिल है.

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष बोले- पीएम मोदी इंसान के रूप में भगवान

गौरतलब है कि सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड तो मस्जिद के पक्ष में शुरुआत से ही था और राम मंदिर के खिलाफ मुकदमा लड़ रहा था. बावजूद इसके सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष जफर फारूखी को राम मंदिर भूमि पूजन के लिए अतिथियों की सूची में शामिल किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें