scorecardresearch
 

UP: जाम में प्रेग्नेंट महिला की मौत ने झकझोरा... 70 वर्षीय 'ट्रैफिक मैन' की कहानी आपके दिल को छू लेगी

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (UP Prayagraj) में 70 साल के बुजुर्ग शहर का यातायात ट्रैफिक पुलिसकर्मी की तरह संभालते हैं. दरअसल, 30 साल पहले प्रयागराज में एक प्रेग्नेंट महिला की जाम में फंसकर जान चली गई थी. इस घटना के बाद जगजीत सिंह ने शहर में जाम खुलवाने के लिए ट्रैफिक पुलिसकर्मी की तरह काम करना शुरू कर दिया.

X
प्रयागराज में ट्रैफिक संभाल रहे जगजीत सिंह. (Photo: Aajtak) प्रयागराज में ट्रैफिक संभाल रहे जगजीत सिंह. (Photo: Aajtak)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्रयागराज के बुजुर्ग आम आदमी को दे रहे सेवाएं
  • 70 वर्षीय बुजुर्ग के जज्बे को लोग कर रहे सलाम

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (UP Prayagraj) के पुराने शहर की तंग गलियों से कभी आप गुजरे तो जाम में जरूर फंस जाएंगे, लेकिन उसी जाम के बीच आपको 70 साल का बुजुर्ग ट्रैफिक पुलिसकर्मी की तरह लोगों को जाम से निजात दिलाने के लिए जूझता नजर आ जाएंगे. 70 वर्षीय जगजीत सिंह धारीवाल ट्रैफिक मैन बनकर आम लोगों को सेवाएं दे रहे हैं. बुजुर्ग के इस जज्बे को देखकर लोग इन्हें सलाम कर रहे हैं.

UP: 30 साल पहले जाम में फंसी प्रेग्नेंट महिला की चली गई थी जान, तब से संभालने लगे यातायात

जाम की वजह से एक महिला की हो गई थी मौत

प्रयागराज के चौक इलाके के रहने वाले जगजीत ने यह सेवा कार्य जब शुरू किया तो उस समय वह 40 साल के थे. बीते 30 साल से जगजीत सिंह ट्रैफिक संभाल रहे हैं. प्रयागराज में चाहे भीषण गर्मी, ठंड या बरसात हो, अगर सड़क पर जाम लगा है तो फौरन जगजीत सिंह जाम खुलवाने में जुट जाते हैं. जगजीत सिंह के इस जज्बे को लोग सलाम कर रहे हैं.

UP: 30 साल पहले जाम में फंसी प्रेग्नेंट महिला की चली गई थी जान, तब से संभालने लगे यातायात

जगजीत सिंह हर दिन लोगों को जाम से निजात दिलाने के लिए एक ट्रैफिक पुलिसकर्मी की तरह अपनी सेवाएं देते आ रहे हैं. 70 वर्षीय बुजुर्ग ने जाम की वजह से प्रेग्नेंट महिला को सड़क पर जान गंवाते हुए देखा था. तब से जगजीत ने ट्रैफिक मैन बनकर सेवाएं देना शुरू कर दिया. वे शहर में लगने वाले जाम को हटाते सड़क पर नजर आ जाते हैं. जगजीत सिंह ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन और लॉ की डिग्री हासिल की है. उन्होंने शादी नहीं की. जीवन यापन के लिए वह चप्पलों की दुकान चलाते हैं.

जगजीत सिंह का NDA में भी हुआ था चयन, मां ने नहीं जाने दिया था

70 वर्षीय बुजुर्ग जगजीत सिंह कहते हैं कि वह जो कर रहे हैं, वो ऊपरवाला करवाता है. जगजीत सिंह को पूरा इलाका सम्मान देता है. उनका चयन एनडीए में भी हुआ, लेकिन इकलौता बेटा होने के चलते उनकी मां ने उन्हें जाने नहीं दिया. जगजीत सिंह जनसेवा में अपने योगदान को लेकर कई बार पुरस्कृत किए जा चुके हैं. शासन प्रशासन और अधिकारियों की तरफ से उन्हें प्रोत्साहन पत्र दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें