scorecardresearch
 

'घूस नहीं शादी में दिए पैसे ले रहा था', वीडियो वायरल होते ही लेखपाल पर एक्शन

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी (UP Barabanki) में एक लेखपाल पर FIR दर्ज कर उसे निलंबित कर दिया गया है. दरअसल, एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसको लेकर दावा किया जा रहा है कि वीडियो में लेखपाल रिश्वत ले रहा है. फिलहाल इस मामले की जांच की जा रही है.

X
लेखपाल को FIR के बाद निलंबित किया गया. (Photo: Video Grab) लेखपाल को FIR के बाद निलंबित किया गया. (Photo: Video Grab)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विभागीय जांच के दिए गए आदेश
  • लेखपाल बोला, मुझे फंसाया जा रहा

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले (Barabanki UP) की तहसील फतेहपुर में तैनात रहे लेखपाल पर एफआईआर कर निलंबित कर दिया गया है. आरोप है कि लेखपाल ने रिश्वत ली थी. दरअसल, एक वीडियाे वायरल हो रहा है, जिसको लेकर दावा किया जा रहा है कि वीडियो में लेखपाल रिश्वत ले रहा है.

सोशल मीडिया में वायरल वीडियो को लेकर लेखपाल साकेत रावत पर आरोप लगाया गया है. दावा किया जा रहा है कि वीडियो में लेखपाल साकेत रावत 54 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए दिखाई दे रहा है. इसके साथ ही पीड़ित से और पैसों की डिमांड की जा रही है. साकेत रावत लेखपाल संघ के जिला अध्यक्ष पर पद भी रह चुका है. वही डीएम के आदेश पर लेखपाल पर केस दर्ज कर निलंबित कर दिया गया है.

इस मामले में तहसील फतेहपुर के एसडीएम ने आरोपी लेखपाल पर मुकदमा दर्ज करवाकर निलंबित कर दिया है. एसडीएम ने बताया कि वायरल वीडियो को लेकर लेखपाल साकेत रावत पर कार्रवाई की गई है. उक्त मामले में विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें: MP: 82 लाख का आशियाना, 7.5 लाख के गहने... 4 करोड़ से अधिक दौलत का मालिक निकला पटवारी

वहीं इस मामले में आरोपी लेखपाल साकेत रावत का कहना है कि ये वीडियो छह महीने पुराना है, जब वह फतेहपुर तहसील में तैनात था. साकेत ने कहा कि मुझे षड्यंत्र के तहत फंसाया जा रहा है. मैंने रामपाल के यहां शादी के दौरान पैसे दिए थे. उसी में से 54 हजार रुपये उन्होंने मुझे वापस किए थे. अभी और पैसे उनसे लेने हैं, जो बाकी हैं. साकेत ने कहा कि मुझे बदनाम करने के लिए वीडियो वायरल किया गया है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें